विजय माल्या के बीजेपी को दिये 35 करोड़ के चैक का पर्दाफाश

लखनऊ। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर उनकी पार्टी के विधायक और पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा द्वारा चंदे में घोटाला करने के आरोपों को लगाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर एक चैक की फोटो वायरल हो रही है। एक्सिस बैंक के इस चैक में 35 करोड़ रुपए की रकम भरी गई है और चैक पर विजय माल्या के दस्तखत किए गए हैं। प्राप्तकर्ता के स्थान पर नाम लिखा है भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का।




पर्दाफाश की पड़ताल में यह चैक प्रथम दृष्टया फर्जी नजर आ रहा है। जिसका अहम सुबूत है चैक पर किए गए दस्तखत। दरअसल जिसने भी इस चैक को तैयार किया है उसने पहली चूक विजय माल्या के दस्तखत बनाने में ही है। गूगल पर मौजूद विजय माल्या के दस्तखत को देखने के बाद कोई बच्चा भी यह स्पष्ट कर सकता है कि यह किसी की बचकानी हरकत का नतीजा है।




फिलहाल यह कहना गलत नहीं होगा कि बीजेपी के खिलाफ विजय माल्या से चंदा लेने के आरोप लगाने के लिए इस तरह की अफवाह फैलाई जा रही है। आपको बता दें कि ऐसा पहले भी कई बार हो चुका है। यूपी में कुछ ही दिन पहले निकली भर्तियों में मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव से लेकर सोनिया और राहुल गांधी तक ने आॅनलाइन आवेदन डाले थे।

Cheque Of 35 Crore To Bjp From Vija Mallya Goes Viral Know The Truth :

ये हैं विजय माल्या के वास्तविक हस्ताक्षर





आपको बता दें कि विजय माल्या मार्च 2016 में भारत छोड़कर फरार हो गए थे। विपक्षी दलों ने माल्या के फरार होने पर सत्तारूढ़ बीजेपी पर ढ़िलाई बरतने का आरोप लगाया था।

लखनऊ। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर उनकी पार्टी के विधायक और पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा द्वारा चंदे में घोटाला करने के आरोपों को लगाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर एक चैक की फोटो वायरल हो रही है। एक्सिस बैंक के इस चैक में 35 करोड़ रुपए की रकम भरी गई है और चैक पर विजय माल्या के दस्तखत किए गए हैं। प्राप्तकर्ता के स्थान पर नाम लिखा है भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का। पर्दाफाश की पड़ताल में यह चैक प्रथम दृष्टया फर्जी नजर आ रहा है। जिसका अहम सुबूत है चैक पर किए गए दस्तखत। दरअसल जिसने भी इस चैक को तैयार किया है उसने पहली चूक विजय माल्या के दस्तखत बनाने में ही है। गूगल पर मौजूद विजय माल्या के दस्तखत को देखने के बाद कोई बच्चा भी यह स्पष्ट कर सकता है कि यह किसी की बचकानी हरकत का नतीजा है। फिलहाल यह कहना गलत नहीं होगा कि बीजेपी के खिलाफ विजय माल्या से चंदा लेने के आरोप लगाने के लिए इस तरह की अफवाह फैलाई जा रही है। आपको बता दें कि ऐसा पहले भी कई बार हो चुका है। यूपी में कुछ ही दिन पहले निकली भर्तियों में मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव से लेकर सोनिया और राहुल गांधी तक ने आॅनलाइन आवेदन डाले थे।ये हैं विजय माल्या के वास्तविक हस्ताक्षर आपको बता दें कि विजय माल्या मार्च 2016 में भारत छोड़कर फरार हो गए थे। विपक्षी दलों ने माल्या के फरार होने पर सत्तारूढ़ बीजेपी पर ढ़िलाई बरतने का आरोप लगाया था।