1. हिन्दी समाचार
  2. छपाक मूवी पर लगा नफरत फैलाने का आरोप, ​कहानी में मुस्लिम आरोपी को दिखाया गया हिंदू

छपाक मूवी पर लगा नफरत फैलाने का आरोप, ​कहानी में मुस्लिम आरोपी को दिखाया गया हिंदू

Chhapak Movie Accused Of Spreading Hate Muslim Accused In The Story Shown Hindu

मुम्बई। मंगलवार शाम अचानक फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण जेएनयू में प्रदर्शनाकारियों से मिलने पंहुच गयी थी जिसके बाद यूजर्स ने उनकी आलोचना शुरू कर दी और उनकी मूवी छपाक का भी जमकर विरोध किया गया। वहीं अब उनकी मूवी पर धार्मिक भावना को ठेस पंहुचाने का भी आरोप लगने लगा है। रियल कहानी पर बनी दीपिका की छपाक मुवी पर आरोप लगा है कि रियल एसिड अटैक के आरोपी नदीम खान का नाम बदलकर राजेश किया गया है। मुस्लिम आरोपी का नाम बदलकर उसे मूवी में हिंदू दिखाने पर लोगों ने नाराजगी जाहिर की है।

पढ़ें :- हमीदिया अस्पताल: 800 रेमडेसिवीर जीवन रक्षक इंजेक्शन ले उड़े चोर, सीसीटीवी फुटेज से जांच में जुटी पुलिस

जेएनयू छात्रों का समर्थन करने के बाद लगातार दीपिका पादुकोण विवादों के घेरे में आ गयी हैं, अब सवाल उठने लगे हैं कि आखिर कन्हैया कुमार के साथ दीपिका वहां क्या करने गयी थी। पहले उनकी फिल्म को बायकॉट करने की मांग उठी, अब उनकी फिल्म पर धार्मिक नफरत फैलाने का आरोप लगना शुरू हो गया है। मामले ने तब तूल पकड़ लिया जब ट्विटर पर राजेश और नदीम खान नाम ट्रेंड होने लगा।

पढ़ें :- वैक्सीनेशन शुरू होने के बाद लोगों ने बरती लापरवाही, इसलिए बढ़े केस : एम्स निदेशक

लोगों ने छपाक मूवी के निर्देशक की मांसिकता पर सवाल उठाना शुरू कर दिये हैं। एक यूजर ने लिखा- लक्ष्मी अग्रवाल के चेहरे पर नदीम खान ने एसिड फेंका था। मेरा सवाल ये है कि क्यों फिल्म में नदीम खान के नाम को हिंदू नाम राजेश में बदला गया। क्या शर्मनाक हिंदू अभी भी फिल्म को देखेंगे। वहीं दूसरे यूजर ने लिखा है अगर नदीम वही है जिसने लक्ष्मी पर एसिड फेंका जिसकी कहानी पर फिल्म छपाक बेस्ड है। तो नदीम का नाम बदलकर राजेश करना शर्मनाक, धोखेबाजी और जानबूझकर किया गया काम है। सभी यूजर्स का आरोप है कि मुस्लिम आरोपी को हिंदू नाम देना मेकर्स के एजेंडे को सूट करता है। लोगों ने इसे एंटी हिंदू बॉलीवुड गैंग का काम बताया है।


आपको बता दें कि नई दिल्ली की खान मार्केट के पास 2005 में 15 वर्षीय छात्रा लक्ष्मी अग्रवाल पर 32 साल के नदीम ने एसिड फेंका था। बताया गया कि उस वक्त लक्ष्मी के परिवार की आर्थिक हालत ज्यादा अच्छी नही थी ​इसलिए वह एक बुक स्टोर में काम किया करती थी। इसी दौरान आते जाते उसकी दोगुनी उम्र के नदीम खान ने शादी के लिए प्रपोज कर दिया तो लक्ष्मी ने प्रपोजल ठुकरा दिया। बस इसी बात पर नदीम ने उसकी जिंदगी बर्बाद कर दी। एक दिन जब लक्ष्मी अपने स्टोर जा रही थी तभी नदीम खान ने उस पर एसिड फैंक दिया। बताया जा रहा है कि दीपिका की फिल्म लक्ष्मी अग्रवाल की कहानी पर बनी है, फिल्म में दीपिका का नाम लक्ष्मी है जबकि आरोपी का नाम राजेश रखा गया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...