1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. छठ महापर्व 2021: आज बनेगा खरना का प्रसाद,इस समय दिया जाएगा डूबते सूर्य को अर्घ्य

छठ महापर्व 2021: आज बनेगा खरना का प्रसाद,इस समय दिया जाएगा डूबते सूर्य को अर्घ्य

रे भारत में छठ महापर्व की शुरुआत हो चुकी है। आज दूसरा दिन है। छठ महापर्व के दूसरे दिन को खरना के नाम से जाना जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

छठ महापर्व 2021: पूरे भारत में छठ महापर्व की शुरुआत हो चुकी है। आज दूसरा दिन है। छठ महापर्व के दूसरे दिन को खरना के नाम से जाना जाता है। आज यानी 09 नवंबर को छठ महापर्व का दूसरा दिन है। इसे इस दिन व्रत करने वाले लोग पूरे दिन उपवास रखते हैं और शाम को खीर और रोटी का प्रसाद ग्रहण करते हैं। इस प्रसाद को छठ महापर्व का सबसे अहम प्रसाद माना जाता है। खरना की पूजा के बाद प्रसाद ग्रहण करने का भी विशेष नियम है। पूजा का प्रसाद व्रती के प्रसाद ग्रहण करने के बादी ही परिवार के अन्य लोगों में बांटा जाता है और परिवार उसके बाद ही भोजन करता है

पढ़ें :- Vrat and festival 2022: जानिए 2022 में होली-नवरात्रि-दिवाली किस दिन पड़ेगी

खरना के प्रसाद के खाने के साथ ही 36 घंटे का निर्जला व्रत शुरू हो जाता है।

छठ पूजा के तीसरे दिन लोग पूजा से जुड़े सामान खरीदकर लाते हैं, जिसमें फल और गन्ना शामिल होता है। इधर घरों में व्रत करने वाले लोग तरह-तरह के पकवान का प्रसाद तैयार करते हैं। इसमें ठेकुआ, खजूर, पुआ आदी पकवान शामिल होता है। छठ महापर्व में ठेकुए को मुख्य प्रसाद माना जाता है।

छठ पूजा के लिए बांस की बड़ी टोकरियों या सूप की जरूरत होगी। इसके अलावा लोटा, थाली, दूध और जल के लिए ग्लास, चावल, लाल सिंदूर, धूप, बड़ा दीपक, पानी वाला नारियल, गन्ना, सुथनी, शकरकंदी, हल्दी और अदरक का पौधा, नाशपाती, नींबू, शहद, पान, साबुत सुपारी, कैराव, कपूर, कुमकुम, चन्दन और मिठाई की जरूरत होगी।

पढ़ें :- Shakun Shastra: पानी से भरा गिलास गिर जाए तो मिलता है यह संकेत, जानिए जल के शकुन और अपशकुन
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...