1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Chhath Puja 2020 : जानिए कौन हैं छठ माता और क्यों की जाती है इनकी पूजा?

Chhath Puja 2020 : जानिए कौन हैं छठ माता और क्यों की जाती है इनकी पूजा?

Chhath Puja 2020 Know Who Are Chhath Mata And Why They Are Worshiped

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ: छठ पूजा हिंदूओं का प्रमुख त्यौहार है. क्षेत्रीय स्तर पर बिहार में इस पर्व को लेकर एक अलग ही उत्साह देखने को मिलता है. छठ पूजा मुख्य रूप से सूर्यदेव की उपासना का पर्व है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार छठ को सूर्य देवता की बहन हैं. मान्यता है कि छठ पर्व में सूर्योपासना करने से छठ माई प्रसन्न होती हैं और घर परिवार में सुख शांति व धन धान्य से संपन्न करती हैं.

पढ़ें :- छठ पूजा स्पेशल: जानिए आखिर क्यों देते हैं छठ पूजा मे सूर्य को अर्घ्य, ये हैं 10 लाभ

कौन हैं देवी षष्ठी और कैसे हुई उत्पत्ति
छठ देवी को सूर्य देव की बहन बताया जाता है. लेकिन छठ व्रत कथा के अनुसार छठ देवी ईश्वर की पुत्री देवसेना बताई गई हैं. देवसेना अपने परिचय में कहती हैं कि वह प्रकृति की मूल प्रवृति के छठवें अंश से उत्पन्न हुई हैं यही कारण है कि मुझे षष्ठी कहा जाता है. देवी कहती हैं यदि आप संतान प्राप्ति की कामना करते हैं तो मेरी विधिवत पूजा करें. यह पूजा कार्तिक शुक्ल षष्ठी को करने का विधान बताया गया है.

पौराणिक ग्रंथों में इस रामायण काल में भगवान श्री राम के अयोध्या आने के पश्चात माता सीता के साथ मिलकर कार्तिक शुक्ल षष्ठी को सूर्योपासना करने से भी जोड़ा जाता है, महाभारत काल में कुंती द्वारा विवाह से पूर्व सूर्योपासना से पुत्र की प्राप्ति से भी इसे जोड़ा जाता है.

सूर्यदेव के अनुष्ठान से उत्पन्न कर्ण जिन्हें अविवाहित कुंती ने जन्म देने के बाद नदी में प्रवाहित कर दिया था वह भी सूर्यदेव के उपासक थे. वे घंटों जल में रहकर सूर्य की पूजा करते. मान्यता है कि कर्ण पर सूर्य की असीम कृपा हमेशा बनी रही. इसी कारण लोग सूर्यदेव की कृपा पाने के लिये भी कार्तिक शुक्ल षष्ठी को सूर्योपासना करते हैं.

पढ़ें :- सूर्यदेव की बनी कृपा इन 5 राशियों की कुंडली में शुरू हो गया राजयोग अब हर तरफ से बरसेगा पैसा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...