1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Chhath Puja Special 2021: चार दिन तक चलने वाली छठ महापर्व का दूसरा दिन कहलाता है खरना या लोहंडा

Chhath Puja Special 2021: चार दिन तक चलने वाली छठ महापर्व का दूसरा दिन कहलाता है खरना या लोहंडा

छठ पूजा एक पर्व ही नहीं महापर्व है। बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में विशेष रुप से मनाया जाने वाला ये त्योहार करीब करीब भारत के एक बड़े हिस्से में मनाया जाने लगा है। मुंबई,दिल्ली,कोलकत्ता और बेंग्लुरु जैसे शहरों में भी ये त्योहार बड़ी धूम धाम से मनाया जा रहा है।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

Chhath Puja Special 2021: छठ पूजा एक पर्व ही नहीं महापर्व है। बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में विशेष रुप से मनाया जाने वाला ये त्योहार करीब करीब भारत के एक बड़े हिस्से में मनाया जाने लगा है। मुंबई,दिल्ली,कोलकत्ता और बेंग्लुरु जैसे शहरों में भी ये त्योहार बड़ी धूम धाम से मनाया जा रहा है। आपको बता दें कि इस महापर्व(Mahaparv) को पर्व कहे या पूजा ये पूरे चार दिन तक मनने वाला त्योहार(Festival) है। चार दिन तक मनाये जाने वाले इस पर्व में 36 घंटे का उपवास भी रखा जाता है।

पढ़ें :- Chhath Puja Special Kosi Bharna 2021: जानें क्यों भरते हैं कोसी, छठ पूजा में होता है इसका एक विशेष महत्व

दूसरा दिन:-  खरना या लोहंडा

पहले दिन व्रती क्या करता है हम आपको इससे पहले की खबर में बता चुके हैं। आज आप जान सकते हैं कि दूसरे दिन इस त्योहार की क्या प्रक्रिया होती है। दूसरे दिन कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी को व्रतधारी दिन भर का उपवास रखते हैं। व शाम को भोजन करते हैं। इसे खरना कहा जाता है। खरना का प्रसाद लेने के लिए आसपास के सभी लोगों को आमांत्रित किया जाता है। प्रसाद के रुप में गन्ने के रस में बने हुए चावल की खीर के साथ दूध चावल का पिट्ठा और घी से चुपड़ी रोटी बनाई जाती है। इसमें नमक या चीनी का प्रयोग नहीं किया जाता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...