छत्तीसगढ़: 11वीं की छात्रा ने हॉस्टल में दिया मरे हुए बच्चे को जन्म, वार्डन सस्पेंड

girl
छत्तीसगढ़: 11वीं की छात्रा ने हॉस्टल में दिया मरे हुए बच्चे को जन्म, वार्डन सस्पेंड

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में एक होस्टल में एक छात्रा के प्रसव का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि नवजात मृत पैदा हुआ। यह घटना नक्‍सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले के पतारस स्थित एक स्‍कूल की है। डिप्‍टी कलेक्‍टर ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा, ‘नवजात मृत पैदा हुआ। छात्रा ने बताया कि वह पिछले दो वर्षों से गांव के ही एक लड़के के साथ रिलेशनशिप में है इस मामले में हॉस्टल के अधीक्षक को सस्पेंड कर दिया गया है।

Chhattisgarh 11th Student Gave Birth To Dead Child In Hostel Warden Suspended :

बताया जा रहा है कि दंतेवाड़ा जिले के पातररास इलाके में गर्ल्स होस्टल की 11वीं की एक 19 वर्षीय छात्रा ने शुक्रवार को तबीयत खराब होने की बात कही तो उसे बुखार की दवा दे दी गई। देर रात छात्रा का स्वास्थ्य ज्यादा खराब होने पर उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसका इलाज शुरू किया और उसका प्रसव कराया गया। प्रसव में छात्रा ने एक मृत शिशु को जन्म दिया है।

प्रसव के बाद छात्रावास की अधीक्षिका ने इसकी जानकारी छात्रा के परिजनों को दी। इस मामले में आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त एस के बर्मन ने वार्डन हेमलता नाग को सस्पेंड करने की जानकारी देते हुए बताया कि इसकी जांच दंतेवाड़ा एसडीएम और तहसीलदार द्वारा कराई जा रही है।

गांव के लड़के साथ संबंध में थी लड़की

डिप्टी कलेक्टर ने कहा, ‘बच्चा मृत है। लड़की का कहना है कि वह दो सालों से गांव के एक लड़के के साथ रिश्ते में है। छात्रावास अधीक्षिका को निलंबित कर दिया गया है। उसे बाद में अस्पताल लाया गया। हम मेडिकल स्टाफ से भी पूछताछ करेंगे। जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। स्कूल प्रशासन ने मृत बच्चे को लड़की के माता-पिता को सौंप दिया है।’

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में एक होस्टल में एक छात्रा के प्रसव का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि नवजात मृत पैदा हुआ। यह घटना नक्‍सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले के पतारस स्थित एक स्‍कूल की है। डिप्‍टी कलेक्‍टर ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा, 'नवजात मृत पैदा हुआ। छात्रा ने बताया कि वह पिछले दो वर्षों से गांव के ही एक लड़के के साथ रिलेशनशिप में है इस मामले में हॉस्टल के अधीक्षक को सस्पेंड कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि दंतेवाड़ा जिले के पातररास इलाके में गर्ल्स होस्टल की 11वीं की एक 19 वर्षीय छात्रा ने शुक्रवार को तबीयत खराब होने की बात कही तो उसे बुखार की दवा दे दी गई। देर रात छात्रा का स्वास्थ्य ज्यादा खराब होने पर उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसका इलाज शुरू किया और उसका प्रसव कराया गया। प्रसव में छात्रा ने एक मृत शिशु को जन्म दिया है। प्रसव के बाद छात्रावास की अधीक्षिका ने इसकी जानकारी छात्रा के परिजनों को दी। इस मामले में आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त एस के बर्मन ने वार्डन हेमलता नाग को सस्पेंड करने की जानकारी देते हुए बताया कि इसकी जांच दंतेवाड़ा एसडीएम और तहसीलदार द्वारा कराई जा रही है। गांव के लड़के साथ संबंध में थी लड़की डिप्टी कलेक्टर ने कहा, 'बच्चा मृत है। लड़की का कहना है कि वह दो सालों से गांव के एक लड़के के साथ रिश्ते में है। छात्रावास अधीक्षिका को निलंबित कर दिया गया है। उसे बाद में अस्पताल लाया गया। हम मेडिकल स्टाफ से भी पूछताछ करेंगे। जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। स्कूल प्रशासन ने मृत बच्चे को लड़की के माता-पिता को सौंप दिया है।'