मुख्यमंत्री के बहू की डिलीवरी के लिए सरकारी अस्पताल का एक फ्लोर रहा रिजर्व

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बहू की डिलेवरी रायपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल डॉ भीमराव अंबेडकर मेमोरियल में हुई। इस दौरान अस्पताल का एक पूरा फ्लोर ही रिजर्व करा लिया गया था जहां भारी प्रशासन व्यवस्था की निगरानी रही। पूरा एक फ्लोर रिजर्व होने के कारण अन्य मरीजों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा। हालत ये थे कि एक बेड पर दो-दो जच्चा को मैनेज करना पड़ा।

Chhattisgarh Cm Raman Singh Daughter Law Admitted Raipur Hospital Other Patients Share Bed :

रमन सिंह के बेटे अभिषेक की पत्नी एश्वर्या ने 11 नवंबर को बेटी को जन्म दिया। जिस सरकारी अस्पताल में एश्वर्या की डिलीवरी हुई उसमें कुछ दिनों पहले ही ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत की बात सामने आई थी। इस अस्पताल में बहू की डिलिवरी के लिए रमन सिंह की तारीफें भी हो रही हैं।

बता दें, जिस सरकारी अस्पताल में एश्वर्या की डिलीवरी हुई उसमें कुछ दिनों पहले ही ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत की बात सामने आई थी। इस अस्पताल में बहू की डिलिवरी के लिए रमन सिंह की तारीफें भी हो रही हैं।

अस्पताल के अधीक्षक ने कहा हमारे लिये गर्व की बात है कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री ने हमारे अस्पताल को चुना हालांकि उन्होंने दिक्कतों का जिक्र करते कहा कि 700 मरीजों का इंफ्रास्ट्रक्चर है और 1200 मरीज भर्ती हैं। ऐसे में जगह की कमी के चलते परेशानी तो हुई है। अस्पताल में भर्ती मरीजों ने बताया कि बहुत मुश्किल हुई, एक ही बिस्तर दिया है, हमने कहा लेकिन किसी ने सुना नहीं।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बहू की डिलेवरी रायपुर के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल डॉ भीमराव अंबेडकर मेमोरियल में हुई। इस दौरान अस्पताल का एक पूरा फ्लोर ही रिजर्व करा लिया गया था जहां भारी प्रशासन व्यवस्था की निगरानी रही। पूरा एक फ्लोर रिजर्व होने के कारण अन्य मरीजों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा। हालत ये थे कि एक बेड पर दो-दो जच्चा को मैनेज करना पड़ा।रमन सिंह के बेटे अभिषेक की पत्नी एश्वर्या ने 11 नवंबर को बेटी को जन्म दिया। जिस सरकारी अस्पताल में एश्वर्या की डिलीवरी हुई उसमें कुछ दिनों पहले ही ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत की बात सामने आई थी। इस अस्पताल में बहू की डिलिवरी के लिए रमन सिंह की तारीफें भी हो रही हैं।बता दें, जिस सरकारी अस्पताल में एश्वर्या की डिलीवरी हुई उसमें कुछ दिनों पहले ही ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत की बात सामने आई थी। इस अस्पताल में बहू की डिलिवरी के लिए रमन सिंह की तारीफें भी हो रही हैं।अस्पताल के अधीक्षक ने कहा हमारे लिये गर्व की बात है कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री ने हमारे अस्पताल को चुना हालांकि उन्होंने दिक्कतों का जिक्र करते कहा कि 700 मरीजों का इंफ्रास्ट्रक्चर है और 1200 मरीज भर्ती हैं। ऐसे में जगह की कमी के चलते परेशानी तो हुई है। अस्पताल में भर्ती मरीजों ने बताया कि बहुत मुश्किल हुई, एक ही बिस्तर दिया है, हमने कहा लेकिन किसी ने सुना नहीं।