छत्तीसगढ़: कोरोना से डरकर पूर्व मंत्री के PSO ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

sucide

रायपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री रामविचार नेताम के पीएसओ ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है. प्लाटून कमांडर छन्नराम ने शांतिनजर सिंचाई कॉलोनी स्थित सरकारी आवास में सुसाइड किया है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मौके से एक कॉपी में लिखा सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है. फिलहाल पुलिस ने सुसाइड नोट को अपने कब्जे में ले लिया है. मामली का जांच शुरू कर दी गई है. सिविल लाइन थाना क्षेत्र का ये पूरा मामला है.

Chhattisgarh Former Ministers Pso Commits Suicide By Hanging Himself Fearing Corona :

दरअसल, पूर्व मंत्री और सांसद रामविचार नेताम के पीएसओ छत्रराम साईंतोड़े ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. पीएसओ ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें को कोरोना के डर से आत्महत्या करने की बात लिखी है. भाजपा नेता और पूर्व मंत्री रामविचार नेताम के पीएसओ छत्रराम शांति नगर के सिंचाई कॉलोनी स्थित अपने सरकारी आवास में रहते थे. गुरुवार दोपहर को छत्रराम ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

पीएसओ ने जिस वक्त खुदकुशी की ओर समय घर पर वे अकेले थे. उनकी पत्नी भिलाई में बेटी और दामाद के घर गई हुई थी. वहीं बेटा उनके साथ ही रह रहा था लेकिन घटना के समय वह अपने दोस्त से मिलने के लिए कमल विहार गया हुआ था. जब बेटा वापस आया तो उसने देखा पिता घर में फांसी के फंदे पर लटक रहे थे. फिर उसने इस बात की जानकारी सिविल लाइन पुलिस को दी. मौके पर पहुंचकर सिविल लाइन पुलिस ने एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है..

सुसाइड नोट में छत्रराम ने मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए लिखा है कि मेरे बच्चे और पत्नी का भविष्य बना देना. वहीं अपने आत्महत्या के लिए कोरोना के डर से मानसिक रूप से टेंशन में होने की बात लिखी है. साथ ही लंबे समय से घर में रहने के कारण बोर हो जाने की बात लिखी हुई है. सिविल लाइन सीएसपी नसर सिद्दीकी का कहना है कि छत्रराम के घर से सुसाइड नोट मिला है कोरोना के कारण सुसाइड करने की बात लिखी है. साथ ही जांच में कर्ज हो जाने की बातें भी निकल कर सामने आई है. जांच की जा रही है.

रायपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री रामविचार नेताम के पीएसओ ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है. प्लाटून कमांडर छन्नराम ने शांतिनजर सिंचाई कॉलोनी स्थित सरकारी आवास में सुसाइड किया है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मौके से एक कॉपी में लिखा सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है. फिलहाल पुलिस ने सुसाइड नोट को अपने कब्जे में ले लिया है. मामली का जांच शुरू कर दी गई है. सिविल लाइन थाना क्षेत्र का ये पूरा मामला है. दरअसल, पूर्व मंत्री और सांसद रामविचार नेताम के पीएसओ छत्रराम साईंतोड़े ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. पीएसओ ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमें को कोरोना के डर से आत्महत्या करने की बात लिखी है. भाजपा नेता और पूर्व मंत्री रामविचार नेताम के पीएसओ छत्रराम शांति नगर के सिंचाई कॉलोनी स्थित अपने सरकारी आवास में रहते थे. गुरुवार दोपहर को छत्रराम ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पीएसओ ने जिस वक्त खुदकुशी की ओर समय घर पर वे अकेले थे. उनकी पत्नी भिलाई में बेटी और दामाद के घर गई हुई थी. वहीं बेटा उनके साथ ही रह रहा था लेकिन घटना के समय वह अपने दोस्त से मिलने के लिए कमल विहार गया हुआ था. जब बेटा वापस आया तो उसने देखा पिता घर में फांसी के फंदे पर लटक रहे थे. फिर उसने इस बात की जानकारी सिविल लाइन पुलिस को दी. मौके पर पहुंचकर सिविल लाइन पुलिस ने एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है.. सुसाइड नोट में छत्रराम ने मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए लिखा है कि मेरे बच्चे और पत्नी का भविष्य बना देना. वहीं अपने आत्महत्या के लिए कोरोना के डर से मानसिक रूप से टेंशन में होने की बात लिखी है. साथ ही लंबे समय से घर में रहने के कारण बोर हो जाने की बात लिखी हुई है. सिविल लाइन सीएसपी नसर सिद्दीकी का कहना है कि छत्रराम के घर से सुसाइड नोट मिला है कोरोना के कारण सुसाइड करने की बात लिखी है. साथ ही जांच में कर्ज हो जाने की बातें भी निकल कर सामने आई है. जांच की जा रही है.