कानपुर एनकाउंटर पर चिदंबरम ने पूछा-प्रशिक्षित पुलिस टीम सूर्यास्त के बाद कुख्यात अपराधी के क्षेत्र में जाने का फैसला करेगी?

p chidambram
कानपुर एनकाउंटर पर चिदंबरम बोले-प्रशिक्षित पुलिस टीम सूर्यास्त के बाद कुख्यात अपराधी के क्षेत्र में जाने का फैसला करेगी?

नई दिल्ली। कानपुर में हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुए हमले में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए। विपक्ष इसको लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा रही है। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सवाल खड़ा किया है। चिदंबरम ने ट्वीट कर इस घटना को लेकर सीधे-सीधे प्रदेश की बीजेपी सरकार पर हमला किया है।

Chidambaram Said At Kanpur Encounter Trained Police Team Will Decide To Go To The Area Of Notorious Criminal After Sunset :

पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा है कि, ‘यूपी हर लिहाज से इतना पिछड़ा है कि यूपी पर राज करने वालों को शर्म से सिर झुका लेना चाहिए। यूपी में कांग्रेस 1985-1989 में 30 साल पहले आखिरी बार सरकार में थी। भाजपा कांग्रेस को दोष नहीं दे सकती है और सोच रही है कि किसे दोषी ठहराया जा सकता है?

इसके साथ ही उन्होंने दूसरे ​ट्वीट में कहा कि, ‘यह विश्वास करना मुश्किल है कि एक प्रशिक्षित पुलिस बल सूर्यास्त के बाद अपने कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार करने के लिए जाएगी। त्रासदी का पूर्वाभास हो गया था। मैं पीड़ितों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।’

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद सीएम के पास है। इतनी भयावह घटना के बाद उन्हें सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। कोई भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए। यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं। आमजन-पुलिस तक सुरक्षित नहीं है।

नई दिल्ली। कानपुर में हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुए हमले में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए। विपक्ष इसको लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा रही है। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने सवाल खड़ा किया है। चिदंबरम ने ट्वीट कर इस घटना को लेकर सीधे-सीधे प्रदेश की बीजेपी सरकार पर हमला किया है। पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा है कि, 'यूपी हर लिहाज से इतना पिछड़ा है कि यूपी पर राज करने वालों को शर्म से सिर झुका लेना चाहिए। यूपी में कांग्रेस 1985-1989 में 30 साल पहले आखिरी बार सरकार में थी। भाजपा कांग्रेस को दोष नहीं दे सकती है और सोच रही है कि किसे दोषी ठहराया जा सकता है? इसके साथ ही उन्होंने दूसरे ​ट्वीट में कहा कि, 'यह विश्वास करना मुश्किल है कि एक प्रशिक्षित पुलिस बल सूर्यास्त के बाद अपने कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार करने के लिए जाएगी। त्रासदी का पूर्वाभास हो गया था। मैं पीड़ितों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।' वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कानून व्यवस्था का जिम्मा खुद सीएम के पास है। इतनी भयावह घटना के बाद उन्हें सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। कोई भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए। यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं। आमजन-पुलिस तक सुरक्षित नहीं है।