जेल से बाहर आते ही चिदंबरम ने आर्थिक सुस्ती पर मोदी सरकार को घेरा, बोले-ये कैसे अच्छे दिन हैं

P Chidambaram
कोरोना वायरस: मोदी सरकार की पहल का पी चिदंबरम ने किया स्वागत, दिये कुुछ सुझाव

नई दिल्ली। जेल से बाहर आते ही पी चिदंबरम ने आर्थिक सुस्ती को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मोदी सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि पिछली 6 तिमाही में देश की जीडीपी 8 से 4.5 प्रतिशत पर आ गई है, लेकिन सरकार का इस दिशा में सुधार करने का कोई प्लान नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार इस पर जिद्दी रवैया अपनाए हुए है।

Chidambaram Said On Economic Slowdown How Are These Good Days :

नोटबंदी, जीएसटी और टैक्स टेररिजम से देश की अर्थव्यवस्था अपने सबसे बुरे दौर में चली गई है। उन्होंने कहा, ‘इस सरकार ने अच्छे दिन लाने का वादा किया था। मैं आपके सामने पिछली 6 तिमाही के आंकड़े रखता हूं। 8 प्रतिशत से 7, 6.6, 5.5, 5 और अब 4.5 प्रतिशत। क्या यही सरकार के अच्छे दिन हैं।’

चिदंबरम ने कहा कि दुनिया के सभी बिजनेसमैन अंतरराष्ट्रीय अखबार पढ़ते हैं और इसका विशेष ध्यान देते हैं। हर सेक्टर के आंकड़े साफ कह रहे हैं कि अर्थव्यवस्था किस दिशा में जा रही है। जीडीपी लगातार गिर रही है, उद्योगों की हालत खराब है, बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है।

प्याज के दाम 100 रुपये किलो से ज्यादा हैं, भले ही वित्त मंत्री प्याज नहीं खाती हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पिछली रात 8 बजे मैं बाहर आया और आजादी की सांस ली। उन्होंने कहा कि, पहला विचार और प्रार्थना कश्मीर के उन 75 लाख लोगों के लिए है, जिन्हें 4 अगस्त से अब तक आजादी नहीं मिली है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मंत्री के तौर पर मेरा रिकार्ड बिल्कुल साफ है।

नई दिल्ली। जेल से बाहर आते ही पी चिदंबरम ने आर्थिक सुस्ती को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके मोदी सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि पिछली 6 तिमाही में देश की जीडीपी 8 से 4.5 प्रतिशत पर आ गई है, लेकिन सरकार का इस दिशा में सुधार करने का कोई प्लान नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार इस पर जिद्दी रवैया अपनाए हुए है। नोटबंदी, जीएसटी और टैक्स टेररिजम से देश की अर्थव्यवस्था अपने सबसे बुरे दौर में चली गई है। उन्होंने कहा, 'इस सरकार ने अच्छे दिन लाने का वादा किया था। मैं आपके सामने पिछली 6 तिमाही के आंकड़े रखता हूं। 8 प्रतिशत से 7, 6.6, 5.5, 5 और अब 4.5 प्रतिशत। क्या यही सरकार के अच्छे दिन हैं।' चिदंबरम ने कहा कि दुनिया के सभी बिजनेसमैन अंतरराष्ट्रीय अखबार पढ़ते हैं और इसका विशेष ध्यान देते हैं। हर सेक्टर के आंकड़े साफ कह रहे हैं कि अर्थव्यवस्था किस दिशा में जा रही है। जीडीपी लगातार गिर रही है, उद्योगों की हालत खराब है, बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है। प्याज के दाम 100 रुपये किलो से ज्यादा हैं, भले ही वित्त मंत्री प्याज नहीं खाती हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पिछली रात 8 बजे मैं बाहर आया और आजादी की सांस ली। उन्होंने कहा कि, पहला विचार और प्रार्थना कश्मीर के उन 75 लाख लोगों के लिए है, जिन्हें 4 अगस्त से अब तक आजादी नहीं मिली है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मंत्री के तौर पर मेरा रिकार्ड बिल्कुल साफ है।