मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने कहा, ‘राजनीतिक पार्टियों ने EVM को बनाया फुटबॉल’

arora
मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त सुनील अरोड़ा ने कहा, 'राजनीतिक पार्टियों ने EVM को बनाया फुटबॉल'

नई दिल्ली। मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त (सीईसी) सुनील अरोड़ा ने एक बार फिर चुनाव नतीजों के लिए इलेक्‍ट्रॉनिक वोटिंग मशीन(ईवीएम) को जिम्‍मेदार ठहराए जाने पर अपनी नाराजगी जताई है। अरोड़ा का कहना है कि राजनीतिक दलों ने ईवीएम को फुटबॉल बनाकर रख दिया है। सुनील अरोड़ा ने कहा है कि ईवीएम पर  बार-बार सवाल उठाना ठीक नहीं है।

Chief Election Commissioner We Have Made Evm As Football :

राज्‍य सरकार और पुलिस अधिकारियों के साथ उच्‍चस्‍तरीय बैठक के बाद प्रेस वार्ता में अरोड़ा ने कहा, ‘अभी कुछ महीनों पहले कर्नाटक के अलावा पांच अन्‍य राज्‍यों में विधानसभा चुनाव कराए गए। हर जगह अलग-अलग नतीजे आए। मैं यह कहने के लिए क्षमा मांगता हूं कि ईवीएम को फुटबॉल बनाकर रख दिया गया है। अगर रिजल्‍ट एक्‍स आता है तो ईवीएम को अच्‍छा और वाई आता है तो बुरा बता दिया जाता है।’ 

‘ईवीएम वोटिंग नहीं करता’ 

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने कहा कि ईवीएम वोटिंग नहीं करता है बल्कि ये हम और आप हैं जो मतदान करते हैं। इसलिए ईवीएम की विश्‍वसनीयता पर संदेह करने का कोई कारण ही नहीं है। जब भी चुनाव आते हैं तो ईवीएम को लेकर राजनीतिक दलों द्वारा सवाल उठाए जाने लगते हैं।   

इसके साथ ही मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आम चुनाव 2019 के साथ ही मतदान कराया जाएगा। इस सिलसिले में जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव, डीजीपी, गृहसचिव और सभी राजनीतिक दलों के साथ चर्चा की जा चुकी है। दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इस संबंध में जानकारी साझा की जाएगी।  

नई दिल्ली। मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त (सीईसी) सुनील अरोड़ा ने एक बार फिर चुनाव नतीजों के लिए इलेक्‍ट्रॉनिक वोटिंग मशीन(ईवीएम) को जिम्‍मेदार ठहराए जाने पर अपनी नाराजगी जताई है। अरोड़ा का कहना है कि राजनीतिक दलों ने ईवीएम को फुटबॉल बनाकर रख दिया है। सुनील अरोड़ा ने कहा है कि ईवीएम पर  बार-बार सवाल उठाना ठीक नहीं है।

राज्‍य सरकार और पुलिस अधिकारियों के साथ उच्‍चस्‍तरीय बैठक के बाद प्रेस वार्ता में अरोड़ा ने कहा, 'अभी कुछ महीनों पहले कर्नाटक के अलावा पांच अन्‍य राज्‍यों में विधानसभा चुनाव कराए गए। हर जगह अलग-अलग नतीजे आए। मैं यह कहने के लिए क्षमा मांगता हूं कि ईवीएम को फुटबॉल बनाकर रख दिया गया है। अगर रिजल्‍ट एक्‍स आता है तो ईवीएम को अच्‍छा और वाई आता है तो बुरा बता दिया जाता है।' 

'ईवीएम वोटिंग नहीं करता' 

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त ने कहा कि ईवीएम वोटिंग नहीं करता है बल्कि ये हम और आप हैं जो मतदान करते हैं। इसलिए ईवीएम की विश्‍वसनीयता पर संदेह करने का कोई कारण ही नहीं है। जब भी चुनाव आते हैं तो ईवीएम को लेकर राजनीतिक दलों द्वारा सवाल उठाए जाने लगते हैं।   

इसके साथ ही मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आम चुनाव 2019 के साथ ही मतदान कराया जाएगा। इस सिलसिले में जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव, डीजीपी, गृहसचिव और सभी राजनीतिक दलों के साथ चर्चा की जा चुकी है। दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इस संबंध में जानकारी साझा की जाएगी।