आतंकवाद पर चीन ने फिर दिखाया पाक के लिए नापाक प्रेम

नई दिल्ली। एक बार फिर चीन ने पाकिस्तान का बचाव करते हुए कहा कि आतंकवाद का विरोध हम भी करते हैं लेकिन किसी खास देश को आतंकवाद से जोड़ने के खिलाफ है। गौरतलब है कि अभी भारत व अमेरिका द्वारा पाकिस्तान से अपनी सरजमीं का इस्तेमाल सीमा पार आतंकवाद के लिए न करना सुनिश्चित करने की अपील किया है जिसके फौरन बाद चीन ने बुधवार को इस्लामाबाद का मजबूती से बचाव किया है।

चीन ने यह भी कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सबसे ‘अग्रिम मोर्चे’ पर है और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को उसे इसके लिए उचित मान्यता देनी चाहिए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने कहा, “हमारा मानना है कि आतंकवाद के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय संपर्क बढ़ाया जाना चाहिए और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को इस संबंध में प्रयासों के लिए पाकिस्तान को पूर्ण मान्यता देनी चाहिए।”

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच सोमवार को हुई बैठक के बाद जारी एक संयुक्त बयान में पाकिस्तान से अपील की गई कि वह अपनी सरजमीं का इस्तेमाल आतंकवादियों द्वारा दूसरे देशों पर हमलों के लिए न होना सुनिश्चित करे। बयान में मुंबई, पठानकोट तथा सीमा पार से भारत पर हुए अन्य आतंकवादी हमलों के साजिशकर्ताओं को न्याय के कठघरे में लाने की अपील की गई।