पाकिस्तान के ‘बेस्ट फ्रेंड’ चीन ने ब्रह्मपुत्र की सहायक नदी का पानी रोका

नई दिल्ली| चीन ने एक बड़े बांध के निर्माण के लिए ब्रह्मपुत्र नदी की एक सहायक नदी का प्रवाह रोक दिया है, जिससे भारत में ब्रह्मपुत्र नदी का प्रवाह प्रभावित हो सकता है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने अपनी पनबिजली परियोजना के तहत शुक्रवार को ब्रह्मपुत्र नदी की एक सहायक नदी का प्रवाह रोक दिया है।




रिपोर्ट के मुताबिक, परियोजना प्रशासन ब्यूरो के प्रमुख झांग युनबाओ ने कहा, “शिगेज में शियाबुकू नदी पर लालहो परियोजना में 4.95 अरब युआन (74 करोड़ डॉलर) का निवेश किया गया है।” ब्रह्मपुत्र नदी शिगेज होते हुए अरुणाचल प्रदेश में बहती है, जिसे शिगत्से भी कहा जाता है। इस नदी का प्रवाह रोकने से निचले क्षेत्रों में बसे देश जैसे भारत व बांग्लादेश प्रभावित हो सकता है।

चीन ने यह कदम भारत द्वारा सिंधु नदी के अधिक से अधिक पानी के इस्तेमाल के फैसले के मद्देनजर भी उठाया है, जिससे पाकिस्तान प्रभावित होगा। चीन व पाकिस्तान मित्र देश हैं और भारत के खिलाफ कई मुद्दों पर चीन ने पाकिस्तान का खुलेआम समर्थन किया है।

जून 2014 में शुरू की गई पनबिजली परियोजना के साल 2019 में पूरी होने की उम्मीद है। इसके जलग्रहण क्षेत्र में 29.5 करोड़ घन मीटर पानी संग्रह करने की क्षमता है, जिससे 30 हजार हेक्टेयर भूमि में सिंचाई करने में मदद मिलेगी। झांग ने कहा कि यह परियोजना बहुद्देश्यीय है।