1. हिन्दी समाचार
  2. आखिरकार चौतरफा दबाव के बाद झुका चीन, गलवान घाटी से सैनिक को हटाया पीछे

आखिरकार चौतरफा दबाव के बाद झुका चीन, गलवान घाटी से सैनिक को हटाया पीछे

China Finally Bowed After All Round Pressure Withdraws Soldier In Galvan Valley

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर तनाव बढ़ता जा रहा है। इस बीच चौतरफा दबाव के बाद चीन को झुकना पड़ा है। चीन ने गलवान घाटी में अपने कुछ सैनिकों और वाहन अग्रिम मोर्चों से पीछे हटा दिए हैं। सूत्रों के मुताबिक भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख सीमा पर तनाव कम करने के लिए 22 जून को कोर कमांडर स्तर की बातचीत हुई थी।

पढ़ें :- क्या कोई अच्छा प्रदर्शन नहीं करेगा तो आप गाली देने लगेंगे, मैकस्वेल ने फैंस की लगाई जम के क्लास

इसमें चीन की सेना ने एलएसी पर अग्रिम मोर्चों पर तैनात अपने जवानों को पीछे हटाने का आश्वासन दिया था। पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच काफी समय से तनातनी चल रही है। 15 जून की रात तनातनी गलवान घाटी में चरम पर पहुंच गई और इस दौरा हिंसक झड़प हुई। इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। वहीं, इसमें चीन के भी 40 से अधिक सैनिक हताहत हुए लेकिन चीन ने इसे आधिकारिक तौर पर स्वीकार नहीं किया।

इसके बाद तनाव कम करने के लिए 22 जून को कोर कमांडर लेवल की बात हुई थी। इसमें चीन ने मौजूदा पोजीशन से अपने अपने सैनिकों को पीछे हटाने का आश्वासन दिया था। गौरतलब है कि इससे पहले सैटेलाइट से मिली लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) की तस्वीरों के आधार पर कहा था कि चीन के सैनिक अग्रिम मोर्चे से पीछे हट गए हैं।

चीन भले ही आधिकारिक तौर पर इसे मानने को तैयार नहीं है लेकिन सैटेलाइट से मिली तस्वीरों ने उसकी पोल खोल दी है। सैटेलाइट से मिली तस्वीरों में दो मर्सडीज कारें दिखाई दे रही हैं। इससे साफ है कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद सेना के शीर्ष अधिकारी वहां पहुंचे थे।

जाहिर तौर पर वे यह देखने आए थे कि भारतीय सैनिकों के साथ 15 जून की रात हुई हिंसक झड़प में पीएलए को कितना नुकसान हुआ है। साथ ही वहां कुछ एंबुलेंस भी खड़ी दिखाई दे रही हैं। साथ ही वहां घायल सैनिकों के इलाज के लिए आनन फानन में फील्ड हॉस्पिटल भी बनाया गया।

पढ़ें :- करीब दो साल बाद एक ही हेलिकॉप्टर में उड़ान भरेंगे पायलट और अशोक गहलोत

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...