चीन ने निभाई पाकिस्तान से दोस्ती, UN में वीटो लगाकर मसूद अजहर को फिर बचाया

नई दिल्ली| चीन ने पाकिस्तान के साथ अपनी दोस्ती को और गहरा करने के लिए एक बार फिर से UN में वीटो लगाकर पठानकोट एयरबेस हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर को बचा लिया है| दुनिया जिस मसूद को आतंकवादी मानती है चीन ने उसे बार बार बचाने की कसम खाली है| अगर चीन ने UN में वीटो न लगाया होता तो भारत की मांग पर मसूद को संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकी घोषित कर दिया जाता|




6 महीने तक खुला घूमेगा मसूद

कल वीटो लगने का आखिरी दिन था अब 6 महीने बाद ही वीटो लग सकता है लेकिन चीन की चाल ने एक बार फिर से वीटो लगा कर मसूद को बचा लिया| वीटो लगने की वजह से अजहर अब 6 महीने तक खुला घुमेगा और पाकिस्तान में रह कर आतंकी साजिश रचेगा| चीन ने अगर अजहर पर वीटो न लगाया होता तो उसकी दुनिया भर की संपाति को जब्त कर लिया जाता और वो खुलेआम कहीं आ जा भी नहीं सकता था| भारत की मांग पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 14 देशों ने अपनी मुहर लगा दी थी लेकिन वीटो पावर वाला चीन अकेले अड़ गया और मसूद को बचा लिया|

कौन है मसूद अजहर

मसूद अजहर जैश ए मोहम्मद का खौफनाक आतंकी है जिसने इसी साल पठानकोट में सेना के एयरबेस पर हमला कराया था| मसूद का हाथ उरी हमले में भी माना जाता है| इससे पहले संसद हमले में भी इसका हाथ रहा है|1999 में जिस विमान को आतंकियों ने हाईजैक किया था उसी के बदले में मसूद को छोड़ा गया था लेकिन अब मसूद भारत ही नहीं दुनिया के लिए आफत बन चुका है|