कम्युनिस्‍टों के लिए वफादार होकर ही बन सकेंगे ‘स्पर्म डोनर’

कम्युनिस्‍टों , स्पर्म डोनर
कम्युनिस्‍टों के लिए वफादार होकर ही बन सकेंगे 'स्पर्म डोनर'

बीजिंग। चीन में सत्‍ताधारी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी इस समय लोगों के लिए अजब-गजब फरमान जारी कर रही है। पिछले दिनों चीन में जहां पूर्व क‍म्‍युनिस्‍ट पार्टियों के नेताओं के ऑनलाइन मजाक पर भी बैन लग गया तो अब यहां पर स्‍पर्म बैंकों ने ग्राहकों से अजीबो-गरीब मांग कर डाली है। दरअसल, पेइचिंग के स्पर्म बैंक पेकिंगयूनिवर्सिटी थर्ड हॉस्पिटल ने ये शर्त रखी है. स्पर्म बैंक ने कहा कि वही लोग स्पर्म डोनेट कर पाएंगे, जिनमें सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के प्रति निष्ठा और विश्वास होगा.  इसके अलावा कुछ और शर्तें भी इस बैंक ने जारी की हैं।

छह माह में 10 बार स्‍पर्म डोनेशन जरूरी

हालांकि डोनर्स की राजनीतिक विश्‍वसनीयता को साबित करने के लिए कोई टेस्‍ट नहीं है। एक डॉक्‍टर की ओर से बताया गया है कि राजनीतिक आवश्‍यकता पूरी करने के लिए डोनर्स का अलग से कोई टेस्‍ट नहीं होगा। डॉक्‍टर का कहना है कि जब तक डोनर खुद को राजनीतिक तौर पर ठीक समझेगा, टेस्‍ट की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके अलावा डोनर्स को छह माह में करीब 10 बार स्‍पर्म डोनेट करना होगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके आर्टिफिशियल इनसैनिमेशन यानी कृत्रिम वीर्यारोपण के लिए जरूरी स्‍पर्म की मात्रा ठीक है।

{ यह भी पढ़ें:- चीन ने फिर निभाई दोस्ती, पाकिस्तान के दो सैटलाइट किए लॉन्च }

स्पर्म डोनर्स के लिए शर्तें

कहा जा रहा है कि स्पर्म बैंक का यह फरमान कम्युनिस्ट पार्टी और उसके प्रमुख शी चिनफिंग को खुश करने के लिए जारी किया है। यह फरमान एक स्पर्म डोनेशन अभियान का हिस्सा है जो स्पर्म बैंक ने बुधवार से शुरू किया है। स्पर्म बैंक द्वारा वीचैट पर एक नोटिस भी जारी किया गया है, जिसमें डोनर्स के लिए शर्तें बताई गई हैं।

इसमें कहा गया है, ‘डोनर को अपनी मातृभूमि से प्यार होना चाहिए, कम्युनिस्ट पार्टी का नेतृत्व स्वीकार होना चाहिए, पार्टी के कार्यों और उसके सिद्धांतों के प्रति निष्ठावान होना चाहिए। साथ ही उसे किसी भी तरह की राजनीतिक समस्या से परे होना चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- चीन ने बनाई लेजर एके-47, दो सेकेंड में करेगी एक हजार राउंड फायर }

हालांकि बैंक इस आधार पर डोनर्स को कैसे वेरिफाइ करेगा, इस पर स्पर्म बैंक ने कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया। समाचार एजेंसी एएफपी ने जब स्पर्म बैंक से पूछना चाहा कि क्या ये शर्तें सरकारी पॉलिसी का हिस्सा हैं, तो उस पर कोई जवाब नहीं मिला।

चीन के नैशनल हेल्थ कमिशन के मुताबिक, चीन में 23 स्पर्म बैंक हैं, लेकिन वहां स्पर्म डोनर्स की भारी कमी है।

{ यह भी पढ़ें:- चीन ने कहा- हम नहीं चाहते बॉर्डर पर हालात बिगड़े, डोकलाम जैसी घटना फिर हो }

बीजिंग। चीन में सत्‍ताधारी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी इस समय लोगों के लिए अजब-गजब फरमान जारी कर रही है। पिछले दिनों चीन में जहां पूर्व क‍म्‍युनिस्‍ट पार्टियों के नेताओं के ऑनलाइन मजाक पर भी बैन लग गया तो अब यहां पर स्‍पर्म बैंकों ने ग्राहकों से अजीबो-गरीब मांग कर डाली है। दरअसल, पेइचिंग के स्पर्म बैंक पेकिंगयूनिवर्सिटी थर्ड हॉस्पिटल ने ये शर्त रखी है. स्पर्म बैंक ने कहा कि वही लोग स्पर्म डोनेट कर पाएंगे, जिनमें सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के प्रति निष्ठा…
Loading...