चीन ने चेताया, हांगकांग मसले पर विदेशी हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

china
चीन ने चेताया- हांगकांग मसले पर विदेशी हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

हॉन्ग-कॉन्ग पर नया विवादित सुरक्षा कानून लाकर चीन चारों तरफ से हो रही आलोचनाओं से घिर गया है. अपने इस कदम का बचाव करते हुए उसने कहा है कि उसे हॉन्ग-कॉन्ग के मसले पर विदेशी दखल बर्दाश्त नहीं है.

China Warns Foreign Interference On Hong Kong Issue Will Not Be Tolerated :

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने हॉन्ग-कॉन्ग में विवादित नए सुरक्षा कानून को लागू करने के पक्ष में दलील देते हुए रविवार को कहा कि पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश पर गैरकानूनी रूप से ‘अत्यधिक विदेशी दखलंदाजी’ के कारण चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा पर गंभीर संकट पैदा हो गया है. हॉन्ग-कॉन्ग में नया सुरक्षा कानून लागू कर चीन उस पर अपना नियंत्रण मजबूत करना चाहता है.

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने नए कानून को हॉन्ग-कॉन्ग के लिए ‘मौत की घंटी’ करार दिया था.

वांग ने हॉन्ग-कॉन्ग में किसी भी प्रकार के विदेशी हस्तक्षेप के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि यह चीन का आंतरिक मामला है और किसी भी प्रकार की बाहरी दखलंदाजी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हॉन्ग-कॉन्ग मसले पर गैरकानूनी रूप से अत्यधिक विदेशी दखलंदाजी के कारण चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा पर गंभीर संकट पैदा हो गया है.

वांग के कहा कि हॉन्ग-कॉन्ग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (एचकेएसएआर) के लिए न्यायिक व्यवस्था और प्रवर्तन के नियमों को लागू करना और उनमें सुधार करना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए प्राथमिकता बन गया है और इसे बिना देरी के लागू किया जाना चाहिए.

एचकेएसएआर के लिए न्यायिक व्यवस्था और प्रवर्तन नियमों को लागू करने और उनमें सुधार के लिए एक बिल का ड्राफ्ट शुक्रवार को चीन की संसद में पेश किया गया था और उम्मीद जताई जा रही है कि 28 मई को यह पास हो जाएगा.

हॉन्ग-कॉन्ग पर नया विवादित सुरक्षा कानून लाकर चीन चारों तरफ से हो रही आलोचनाओं से घिर गया है. अपने इस कदम का बचाव करते हुए उसने कहा है कि उसे हॉन्ग-कॉन्ग के मसले पर विदेशी दखल बर्दाश्त नहीं है. चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने हॉन्ग-कॉन्ग में विवादित नए सुरक्षा कानून को लागू करने के पक्ष में दलील देते हुए रविवार को कहा कि पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश पर गैरकानूनी रूप से 'अत्यधिक विदेशी दखलंदाजी' के कारण चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा पर गंभीर संकट पैदा हो गया है. हॉन्ग-कॉन्ग में नया सुरक्षा कानून लागू कर चीन उस पर अपना नियंत्रण मजबूत करना चाहता है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने नए कानून को हॉन्ग-कॉन्ग के लिए 'मौत की घंटी' करार दिया था. वांग ने हॉन्ग-कॉन्ग में किसी भी प्रकार के विदेशी हस्तक्षेप के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि यह चीन का आंतरिक मामला है और किसी भी प्रकार की बाहरी दखलंदाजी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हॉन्ग-कॉन्ग मसले पर गैरकानूनी रूप से अत्यधिक विदेशी दखलंदाजी के कारण चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा पर गंभीर संकट पैदा हो गया है. वांग के कहा कि हॉन्ग-कॉन्ग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (एचकेएसएआर) के लिए न्यायिक व्यवस्था और प्रवर्तन के नियमों को लागू करना और उनमें सुधार करना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए प्राथमिकता बन गया है और इसे बिना देरी के लागू किया जाना चाहिए. एचकेएसएआर के लिए न्यायिक व्यवस्था और प्रवर्तन नियमों को लागू करने और उनमें सुधार के लिए एक बिल का ड्राफ्ट शुक्रवार को चीन की संसद में पेश किया गया था और उम्मीद जताई जा रही है कि 28 मई को यह पास हो जाएगा.