1. हिन्दी समाचार
  2. कोरोना को फैलाने में चीन के वुहान बाजार की अहम भूमिकाः WHO

कोरोना को फैलाने में चीन के वुहान बाजार की अहम भूमिकाः WHO

Chinas Wuhan Market Plays An Important Role In Spreading Corona Who

By रवि तिवारी 
Updated Date

अमेरिका (America) बार-बार कहता रहा कोरोना (Corona) को फैलाने के पीछे चीन का हाथ है, पूरी दुनिया चीन के वुहान (Wuhan) शहर को बार-बार कोरोना के लिए जिम्मेदार ठहराती रही, लेकिन इस बीच WHO कोरोना के खिलाफ चीन के कदमों की तारीफ करता रहा, लेकिन अब आखिरकार WHO ने ये माना है कि दुनियाभर में कोरोना चीन के वुहान से ही पहुंचा है.

पढ़ें :- छोटी-छोटी गलतियों को ध्यान दिया जाए तो दुघर्टनाओं पर लगेगी रोक : सीएम योगी

21वीं सदी के 20वें साल में दुनिया के सामने और WHO के सामने जो सबसे बड़ी चुनौती है वो कोविड-19 है. कोरोना की वजह से मौत के आंकड़ें और कोरोना के फैलने का संक्रमण तो दुनिया के सामने सबसे बड़ी परेशानी है ही लेकिन उससे भी बड़ा सवाल है WHO की बीते 4 महीनों में बदलती भूमिका और उसके बदलते जवाब, क्योंकि बीते 4 महीनों से चीन की कोरोना के खिलाफ कोशिशों की तारीफ करता WHO अब कोरोना के पैदा होने या इसके फैलने के पीछे चीन के वुहान को ही जिम्मेदार मान रहा है.

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने कहा है कि यह साफ है कि कोरोना वायरस में वुहान की मीट मार्केट की भूमिका रही है, लेकिन इस मामले में अभी और रिसर्च की जरूरत है. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि या तो वुहान के मार्केट से यह वायरस विकसित हुआ या फिर यहां से इसका फैलाव हुआ है. चीन के अधिकारियों ने जनवरी में इस मार्केट को बंद कर दिया था. इसके साथ ही वन्यजीवों के व्यापार में अस्थायी प्रतिबंध भी लगा दिया था.

WHO के फूड सेफ्टी जूनॉटिक वायरस एक्सपर्ट डॉ. पीटर बेन ऐंबरेक ने कहा, ‘मार्केट ने इस इवेंट में भूमिका निभाई है, यह साफ है लेकिन क्या भूमिका, यह हमें नहीं पता है. क्या वह वायरस का स्रोत था या यहां से बढ़ा या सिर्फ इत्तेफाक कि कुछ केस मार्केट के अंदर और आसपास पाए गए.’

पीटर ने कहा कि यह बात साफ नहीं हो सकी कि जिंदा जानवरों या इन्फेक्टेड दुकानदारों या खरीददारों में से कौन वायरस को मार्केट में लाया. पीटर ने चीन पर लगाए जा रहे अमेरिका के आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया. बता दें कि अमेरिका का दावा है कि उसके पास इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि वायरस चीन में ही पैदा हुआ था. पीटर के अनुसार ‘रीसर्चर्स को Mers वायरस ऊंटों से पैदा हुआ था, यह पता करने में एक साल लग गया था. अभी देर नहीं हुई है.’ Mers वायरस 2012 में सऊदी अरब में पैदा हुआ था और मिडिल ईस्ट में फैल गया था.

पढ़ें :- कांग्रेस नए साल के कैलेंडर के जरिए पहुंचेगी घर-घर, प्रियंका गांधी की लगी हैं तस्वीरें

कोरोना वायरस को लेकर सारी दुनिया चीन पर आरोप लगाती रही कि उसने अपने यहां वायरस फैलने से रोकने की कोशिश समय पर नहीं की और बाकी दुनिया को भी अंधेरे में रखा. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पर भी चीन का पक्ष लेने आरोप लगता रहा लेकिन WHO की ओर से कहा जा रहा है कि चीन इसपर और सफाई से जांच कर सकता है.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...