चीन की सेना ने कहा- भारत के साथ संबंधों में हो रहा सुधार, PM मोदी को दिया धन्यवाद

narendra modi
चीन की सेना ने कहा- भारत के साथ संबंधों में हो रहा सुधार, PM मोदी को दिया धन्यवाद

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सैन्य संबंधों को लेकर चीनी सेना यानी पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने गुरुवार को कहा कि भारतीय सेना के साथ उनके संबंध बेहतर हो रहे हैं। पीएलए ने कहा कि रणनीतिक बातचीत और व्यवहारिक सहयोग के कारण ऐसा हो पाया है। पीएलए ने इसके लिए पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को धन्यवाद दिया है।  

Chinese Army Said Improvement In Relations With India Thanks To Pm Modi :

चीन की सेना के प्रवक्ता कर्नल वु किआन ने कहा कि अभी भारत और चीन ने संयुक्त सैन्य अभ्यास खत्म किया और दोनों देशों ने क्षेत्रीय सुरक्षा और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई करने को लेकर प्रतिबद्धता दिखाई। चीनी सेना का बयान इस लिहाज से महत्वपूर्ण है कि 2017 में डोकलाम में भारत और चीन के बीच तनातनी काफी बढ़ गई थी। इसके अलावा चीन कई मौकों पर भारत के खिलाफ पाकिस्तान का साथ देता रहा है।

उन्होंने कहा, ‘भारत और चीन के संबंधों में सैन्य संबंध सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इसके लिए दोनों देशों के नेताओं का धन्यवाद। दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग बढ़ रहा है, रणनीतिक बातचीत बेहतर हो रही है और व्यवहारिक सहयोग को भी बढ़ावा मिल रहा है।’बता दें कि 2018 में वुहान और इस साल चेन्नै में दोनों देशों के प्रमुखों के बीच इन्फॉर्मल समिट हुई थी। 2017 में डोकलाम में हुए गतिरोध के बाद इन मुलाकातों को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा था।

चेन्नै समिट के बाद शी ने कहा था, ‘एक दूसरे के हितों से जुड़े मुद्दों को हमें ध्यानपूर्वक बढ़ाने की जरूरत है। हमें समस्याओं को ठीक ढंग और धैर्य से सुलझाना होगा।’ उस दौरान शी ने दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग को बढ़ावा देने की भी वकालत की थी। 

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सैन्य संबंधों को लेकर चीनी सेना यानी पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की है। चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने गुरुवार को कहा कि भारतीय सेना के साथ उनके संबंध बेहतर हो रहे हैं। पीएलए ने कहा कि रणनीतिक बातचीत और व्यवहारिक सहयोग के कारण ऐसा हो पाया है। पीएलए ने इसके लिए पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को धन्यवाद दिया है।   चीन की सेना के प्रवक्ता कर्नल वु किआन ने कहा कि अभी भारत और चीन ने संयुक्त सैन्य अभ्यास खत्म किया और दोनों देशों ने क्षेत्रीय सुरक्षा और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई करने को लेकर प्रतिबद्धता दिखाई। चीनी सेना का बयान इस लिहाज से महत्वपूर्ण है कि 2017 में डोकलाम में भारत और चीन के बीच तनातनी काफी बढ़ गई थी। इसके अलावा चीन कई मौकों पर भारत के खिलाफ पाकिस्तान का साथ देता रहा है। उन्होंने कहा, 'भारत और चीन के संबंधों में सैन्य संबंध सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।' उन्होंने कहा, 'इसके लिए दोनों देशों के नेताओं का धन्यवाद। दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग बढ़ रहा है, रणनीतिक बातचीत बेहतर हो रही है और व्यवहारिक सहयोग को भी बढ़ावा मिल रहा है।'बता दें कि 2018 में वुहान और इस साल चेन्नै में दोनों देशों के प्रमुखों के बीच इन्फॉर्मल समिट हुई थी। 2017 में डोकलाम में हुए गतिरोध के बाद इन मुलाकातों को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा था। चेन्नै समिट के बाद शी ने कहा था, 'एक दूसरे के हितों से जुड़े मुद्दों को हमें ध्यानपूर्वक बढ़ाने की जरूरत है। हमें समस्याओं को ठीक ढंग और धैर्य से सुलझाना होगा।' उस दौरान शी ने दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग को बढ़ावा देने की भी वकालत की थी।