पहली रात चिन्मयानंद ने जेल की रोटी खाई, तबीयत बिगड़ी

SWAMI CHINMAYANAND
पहली रात चिन्मयानंद ने जेल की रोटी खाई, तबीयत बिगड़ी

शाहजहांपुर। छात्रा से यौन शोषण और बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजे गए हैं। जेल में अपने पहले दिन इस बीजेपी नेता ने एकांत में समय बिताया। हालांकि, उनका खाना आम कैदियों की तरह ही था।

Chinmayanand Ate Jail Bread On First Night Health Deteriorated :

जेल में चिन्मयानंद की पहली काफी तकलीफ में कटी। हालांकि उन्होंने जेल का खाना खाया था। जेल में उनकी तबियत बिगड़ गई है। फिलहाल वह जेल में चिकित्सकों की निगरानी में हैं। बताया जा रहा है कि जिला जेल में चिन्मयानंद की तबियत ठीक नहीं है और उन्हें रेफर किए जाने की संभावना बढ़ गई है। जेल पहुंचते ही चिन्मयानंद ने बैरक में इंग्लिश टॉयलेट लगाने की बात कही थी। इसके पहले चिन्मयानंद ने एसआईटी के सामने अपने ऊपर लगे मालिश और यौन वार्तालाप जैसे अधिकतर आरोप मान लिये थे।

एसआईटी की एक टीम ने चिन्मयानंद को मुमुक्षु आश्रम स्थित उनके दिव्य धाम से गिरफ्तार किया जिसके बाद उन्हें शाहजहांपुर के राजकीय मेडिकल कॉलेज में चिकित्सीय परीक्षण के लिए ले जाया गया। चिन्मयानंद की अधिवक्ता पूजा सिंह ने बताया कि एसआईटी की टीम बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ दिव्य धाम पहुंची और उसने चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर लिया।
जेल अधीक्षक राकेश कुमार के मुताबिक स्वामी चिन्मयानंद और उनसे रंगदारी मांगने के आरोपी युवकों को भी जेल में दाखिल किया गया है। स्वामी चिन्मयानंद को सुरक्षित बैरक में रखा गया है। जेल में उनकी सुरक्षा की समुचित व्यवस्था है।

आपको बता दें कि यौन शोषण के आरोपी चिन्मयानंद को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में स्थानीय अदालत ने चिन्मयानंद को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। इससे पहले कई दिनों की जद्दोजहद के बाद अंतत: यौन शोषण के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को शुक्रवार सुबह मुमुक्ष आश्रम से गिरफ्तार कर लिया गया। चिन्मयानंद को उनके ही कॉलेज की छात्रा और उसके पिता द्वारा दर्ज कराए गए यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

शाहजहांपुर। छात्रा से यौन शोषण और बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजे गए हैं। जेल में अपने पहले दिन इस बीजेपी नेता ने एकांत में समय बिताया। हालांकि, उनका खाना आम कैदियों की तरह ही था। जेल में चिन्मयानंद की पहली काफी तकलीफ में कटी। हालांकि उन्होंने जेल का खाना खाया था। जेल में उनकी तबियत बिगड़ गई है। फिलहाल वह जेल में चिकित्सकों की निगरानी में हैं। बताया जा रहा है कि जिला जेल में चिन्मयानंद की तबियत ठीक नहीं है और उन्हें रेफर किए जाने की संभावना बढ़ गई है। जेल पहुंचते ही चिन्मयानंद ने बैरक में इंग्लिश टॉयलेट लगाने की बात कही थी। इसके पहले चिन्मयानंद ने एसआईटी के सामने अपने ऊपर लगे मालिश और यौन वार्तालाप जैसे अधिकतर आरोप मान लिये थे। एसआईटी की एक टीम ने चिन्मयानंद को मुमुक्षु आश्रम स्थित उनके दिव्य धाम से गिरफ्तार किया जिसके बाद उन्हें शाहजहांपुर के राजकीय मेडिकल कॉलेज में चिकित्सीय परीक्षण के लिए ले जाया गया। चिन्मयानंद की अधिवक्ता पूजा सिंह ने बताया कि एसआईटी की टीम बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ दिव्य धाम पहुंची और उसने चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर लिया। जेल अधीक्षक राकेश कुमार के मुताबिक स्वामी चिन्मयानंद और उनसे रंगदारी मांगने के आरोपी युवकों को भी जेल में दाखिल किया गया है। स्वामी चिन्मयानंद को सुरक्षित बैरक में रखा गया है। जेल में उनकी सुरक्षा की समुचित व्यवस्था है। आपको बता दें कि यौन शोषण के आरोपी चिन्मयानंद को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में स्थानीय अदालत ने चिन्मयानंद को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है। इससे पहले कई दिनों की जद्दोजहद के बाद अंतत: यौन शोषण के आरोपी स्वामी चिन्मयानंद को शुक्रवार सुबह मुमुक्ष आश्रम से गिरफ्तार कर लिया गया। चिन्मयानंद को उनके ही कॉलेज की छात्रा और उसके पिता द्वारा दर्ज कराए गए यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार किया गया है।