1. हिन्दी समाचार
  2. चिन्मयानंद केस: पुलिस ने शाहजहांपुर में कांग्रेस दफ्तर घेरा, जितिन प्रसाद नजरबंद

चिन्मयानंद केस: पुलिस ने शाहजहांपुर में कांग्रेस दफ्तर घेरा, जितिन प्रसाद नजरबंद

Chinmayanand Case Section 144 Imposed In Shahjahanpur For Justice Journey Of Congress Jitin Prasad Under House Arrest

By बलराम सिंह 
Updated Date

शाहजहांपुर। चिन्मयानंद केस में पीड़ित छात्रा को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस सोमवार से न्याय यात्रा निकालने जा रही है। कांग्रेसियों को रोकने के लिए प्रशासन ने जिले भर में धारा 144 लागू कर दी है। न्याय यात्रा की अनुमति न दिए जाने के बाद भी कांग्रेसियों के रुख को देखते हुए जिला प्रशासन ने जबरदस्त मोर्चाबंदी की है। साथ ही कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को नजरबंद कर दिया है। इसके साथ ही कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर और पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रभारी अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उन्हें और अन्य कार्यकर्ताओं को पुलिस लाइन में रखा गया है। पुलिस ने कांग्रेस कार्यालय से टैंट भी उखड़वा दिया है।

पढ़ें :- जाने आखिर क्यों करोड़ो की कीमत होने के बावजूद भी कोई इन घरो को एक रूपये में भी नहीं खरीदना चाहता

कांग्रेस की न्याय यात्रा को देखते हुए शाहजहांपुर में टाउन हॉल स्थित कांग्रेस दफ्तर के चारों तरफ बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। बैरिकेडिंग की गई है। साथ ही हर आने-जाने वाले व्यक्ति पर नजर रखी जा रही है। कई थाने की फोर्स तैनात की गई है। साथ ही पीएसी को भी लगाया गया है। महिला पुलिस बल की भी खासी संख्या में तैनाती हुई है।

जिला प्रशासन ने शांति भंग की आशंका के चलते कांग्रेस को शाहजहांपुर से लखनऊ तक पदयात्रा निकालने की अनुमति नहीं दी है, इसके बाद भी पदयात्रा निकालने के कांग्रेस नेताओं ने ऐलान किया है। प्रियंका गांधी के निर्देश पर शाहजहांपुर आए राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर और पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रभारी अजय कुमार लल्लू ने छात्रा के पक्ष में न्याय यात्रा निकालकर सरकार को घेरने की घोषणा की थी। इसकी दो दिन से तैयारी की जा रही थी। रविवार देर रात प्रशासन ने इस पदयात्रा को अनुमति देने से इंकार कर दिया। इसके पीछे मौजूदा समय में हो रहे धार्मिक आयोजन के मद्देनजर लगी एक धारा 144 का हवाला दिया गया। पदयात्रा निकलने से शांति भंग की आशंका है, इस कारण अनुमति नहीं दी गई है।

बता दें कि शनिवार को अचानक धीरज गुर्जर और अजय कुमार लल्लू शाहजहांपुर पहुंचे और यहां कांग्रेस कार्यालय पर उन्होंने स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने बताया कि वह छात्रा के पक्ष में न्याय यात्रा निकालने के लिए आए। इसको लेकर स्थानीय कार्यकर्ताओं में उहापोह की स्थितियां पैदा हो गई। कुछ लोगों ने तमाम सवालात किए, लेकिन यात्रा निकालने पर सभी को सहमत होना पड़ा।

जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि कांग्रेस जिलाध्यक्ष से उनकी कोई बात नहीं हुई। पदयात्रा की कोई अनुमति नहीं दी गई है। वहीं, सोमवार सुबह कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर योगी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों को सरकार का सरंक्षण है कि वो दुष्कर्म से पीड़ित लड़की को डरा-धमका सकें। लेकिन, यूपी भाजपा सरकार शाहजहांपुर की बेटी के लिए न्याय मांगने की आवाज को दबाना चाहती है। पदयात्रा रोकी जा रही है। हमारे कार्यकर्ताओं नेताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है। उन्होंने सरकार से पूछा कि डर किस बात का है?।

पढ़ें :- 99 % लोगो को नहीं पता होगा ट्रेन के नीले और लाल रंग के डिब्बों में क्या होता है फर्क, सवाल का जवाब पढ़ कर हिल जाएगा आपका दिमाग

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...