चिन्मयानंद रेप केस, पीड़ित छात्रा के घर जाएंगी सुभाषिनी अली और वृंदा करात

subhashini ali
चिन्मयानंद रेप केस, पीड़ित छात्रा के घर जाएंगी सुभाषिनी अली और वृंदा करात

शाहजहांपुर। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण और दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा के घर पर सुभाषिनी अली और वृंदा करात ता रही हैं। दोनों नेता छात्रा के परिवार से मिलेंगी और पूरे मामले का सच जानेंगी। इस दौरान वह मीडिया से भी बात करेंगी।

Chinmayananda Rape Case Subhashini Ali And Brinda Karat Will Go To The Victims Home :

बताया जा रहा है कि बृंदा करात और सुभाषिनी अली पीड़िता से जेल में मुलाक़ात करेंगी और पूरे मामले को समझेंगी। इसके अलावा दोनों नेता केस के संबंध में एसआईटी से भी कर बातचीत कर सकती हैं।

इससे पहले बीते बुधवार को पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली विधि छात्रा की, उनसे पांच करोड़ रुपये मांगे जाने के मामले में बुधवार को गिरफ्तारी के बाद अदालत में जमानत अर्जी खारिज हो गई। वहीं चिन्मयानंद की जमानत अर्जी पर सुनवाई के लिए 30 सितंबर की तारीख तय की गयी है।

आपको बता दें कि स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल कर कहा था कि उसे चिन्मयानंद से अपनी जान को खतरा है। स्वामी ने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। इसके बाद पीड़िता के पिता ने कोतवाली में चिन्मयानंद के विरुद्ध अपहरण और जान से मारने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। इसी मामले की जांच एसआईटी कर रही थी जिसमें पीड़िता को दोषी पाते हुए उसे जेल भेज दिया गया।

एसआईटी प्रमुख नवीन अरोड़ा ने बताया कि हमने लड़की से गहन पूछताछ की, सारे वीडियो दिखाये और आवाज सुनायी। इस बात का स्पष्ट साक्ष्य है कि पांच करोड़ रुपये की मांग की गयी थी। मामले में चिन्मयानंद समेत पांच आरोपियों को एसआईटी जेल भेज चुकी है।

शाहजहांपुर। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण और दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा के घर पर सुभाषिनी अली और वृंदा करात ता रही हैं। दोनों नेता छात्रा के परिवार से मिलेंगी और पूरे मामले का सच जानेंगी। इस दौरान वह मीडिया से भी बात करेंगी। बताया जा रहा है कि बृंदा करात और सुभाषिनी अली पीड़िता से जेल में मुलाक़ात करेंगी और पूरे मामले को समझेंगी। इसके अलावा दोनों नेता केस के संबंध में एसआईटी से भी कर बातचीत कर सकती हैं। इससे पहले बीते बुधवार को पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली विधि छात्रा की, उनसे पांच करोड़ रुपये मांगे जाने के मामले में बुधवार को गिरफ्तारी के बाद अदालत में जमानत अर्जी खारिज हो गई। वहीं चिन्मयानंद की जमानत अर्जी पर सुनवाई के लिए 30 सितंबर की तारीख तय की गयी है। आपको बता दें कि स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल कर कहा था कि उसे चिन्मयानंद से अपनी जान को खतरा है। स्वामी ने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। इसके बाद पीड़िता के पिता ने कोतवाली में चिन्मयानंद के विरुद्ध अपहरण और जान से मारने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। इसी मामले की जांच एसआईटी कर रही थी जिसमें पीड़िता को दोषी पाते हुए उसे जेल भेज दिया गया। एसआईटी प्रमुख नवीन अरोड़ा ने बताया कि हमने लड़की से गहन पूछताछ की, सारे वीडियो दिखाये और आवाज सुनायी। इस बात का स्पष्ट साक्ष्य है कि पांच करोड़ रुपये की मांग की गयी थी। मामले में चिन्मयानंद समेत पांच आरोपियों को एसआईटी जेल भेज चुकी है।