1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. चिराग पासवान का छलका दर्द, कहा-नीतीश कुमार ने हमेशा हमारी पार्टी को तोड़ने का प्रयास किया

चिराग पासवान का छलका दर्द, कहा-नीतीश कुमार ने हमेशा हमारी पार्टी को तोड़ने का प्रयास किया

लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) में टूट के बाद चिराग पासवान का दर्द छलका है। उन्होंने एक बार फिर दर्द भरा पत्र जारी किया है। उन्होंने इस पत्र के जरिए पार्टी में टूट के लिए जेडीयू और सीएम नीतीश कुमार कसूरवार ठहराया है। वहीं, चाचा पशुपति पारस पर विश्वासघात करने का आरोप भी लगाया।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) में टूट के बाद चिराग पासवान का दर्द छलका है। उन्होंने एक बार फिर दर्द भरा पत्र जारी किया है। उन्होंने इस पत्र के जरिए पार्टी में टूट के लिए जेडीयू और सीएम नीतीश कुमार कसूरवार ठहराया है। वहीं, चाचा पशुपति पारस पर विश्वासघात करने का आरोप भी लगाया।

पढ़ें :- लालू बोले-पूर्णिया में बिना हवाई अड्डा अमित शाह ने उड़ा दिए जहाज , इतना सफेद झूठ बोलने की हिम्मत कहां से जुटाते हैं?

चिराग ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर अपना पत्र जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ साझा किया है। पत्र में चिराग ने नेता दल (यूनाइटेड) पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हमेशा हमारी पार्टी को तोड़ने का काम किया। उन्होंने पत्र में लिखा है कि 2005 फरवरी के चुनाव में हमारे 29 विधायकों को तोड़ा गया और साथ ही साथ हमारे बिहार प्रदेश के अध्यक्ष को भी तोड़ने का काम किया गया।

उसके बाद 2020 में जीते हुए एक विधायक को भी तोड़ने का काम जेडीयू ने किया। आज लोक जनशक्ति पार्टी के 5 सांसदों को तोड़ जनता दल (यूनाइटेड) ने अपनी बांटो और शासन करो की रणनीति को दोहराया है। चिराग ने आगे लिखा कि रामविलास पासवान के जीवनकाल में कई बार नीतीश कुमार की ओर से उनकी राजनीतिक हत्या का प्रयास किया गया।

दलित व महादलित में बंटवारा करवाना उसी का एक उदाहरण है। उन्होंने मुझे और मेरे पिता को अपमानित करने का और राजनीतिक तौर पर समाप्त करने का कोई मौका नहीं छोड़ा। इतना कुछ होने पर भी रामविलास पासवान नहीं झुके। लोकसभा के चुनाव में हमारे 6 सांसदों को हराने में जनता दल (यूनाइटेड) के नेताओं ने कोई कसर नहीं छोड़ी।

 

पढ़ें :- फूलपुर से चुनाव लड़ने की बात में नहीं है कोई सच्चाई, मेरा मकसद सिर्फ विपक्ष को एकजुट करना है : Nitish Kumar
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...