1. हिन्दी समाचार
  2. इसलिए 25 दिसंबर को मनाते हैं क्रिसमस डे, जाने ईशा मसीह को क्यों कहते हैं ईशू

इसलिए 25 दिसंबर को मनाते हैं क्रिसमस डे, जाने ईशा मसीह को क्यों कहते हैं ईशू

Christmas Special Why We Celebrate Christmas On 25th December

By आस्था सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। क्रिसमस ईसाइयों का सबसे बड़ा त्यौहार है। ईसाई धर्म के लोग इस त्यौहार को बड़ी धूमधाम और उल्लास के साथ मनाते हैं। यह त्यौहार प्रत्येक वर्ष 25 दिसम्बर को मनाया जाता है। इसी दिन प्रभु ईसा मसीह या जीसस क्राइस्ट का जन्म हुआ था। क्रिसमस को बड़ा दिन भी कहा जाता है। इस दिन लगभग सभी देशों में अवकाश रहता है। ईसाई समुदाय के लोगों के लिए इस त्यौहार का वही महत्व है जैसा हिंदुओं में दशहरा और दिवाली का होता है। आज के समय में क्रिसमस की छुट्टियों में लोग एक दूसरे को उपहार देते हैं चर्च और घरों की अच्छे से सजावट करते हैं। क्रिसमस के त्यौहार पर लोग सजावट के प्रदर्शन में क्रिसमस के पेड़, रंग-बिरंगी लाइट्स, जन्म के झाँकी और हॉली आदि शामिल हैं।

पढ़ें :- हाथरस केस को लेकर बीजेपी विधायक ने राज्यपाल को लिखा पत्र, कहा-डीजीपी-डीएम-एसएसपी पर चले हत्या का केस

सभी ईसाई समुदायों के परिवार में सभी को सांता क्लाज़ के द्वारा क्रिसमस की मध्यरात्रि में उपहार बाँटने की बड़ी परंपरा है। कहा जाता है कि सांता रात के समय सभी के घरों में जाकर उनको उपहार बाँटता है खासतौर से बच्चों को वो कुछ खास उपहार देता है। बच्चे बड़ी व्याकुलता से सांता और इस दिन का इंतजार करते है। वो अपने माता-पिता से पूछते है कि कब सांता आयेगा? ढ़ेर सारे उपहारों के साथ सांता 12 बजे मध्यरात्रि को आता है और बच्चों का इंतज़ार खत्म होता है।

ईशा मसीह को क्यों कहते हैं इशू

ईशा मसीह को ही इशू भी कहा जाता है इशू एक महान व्यक्ति थे और उन्होने पूरे समाज को प्यार और इंसानियत की शिक्षा दी। वो दुनिया के लोगों को प्रेम और भाईचारे के साथ रहने का संदेश देते थे। इशू को ईश्वर का इकलौता प्यारा पुत्र माना जाता है। क्रिसमस के दिन चर्च में लोग विशेष प्रार्थनाएँ करते हैं लोग अपने रिशतेदारों एवं मित्रों से मिलने उनके घर जाते हैं। सभी एक-दूसरे को उपहार देते हैं इस दिन खासतौर पर ईसाई लोग अपने आंगन में क्रिसमस ट्री लगाते हैं। घर की सफाई की जाती है घरों को विशेष रूप से सजाया जाता है। लोग नए कपड़े खरीदते हैं घरों में विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाए जाते हैं। क्रिसमस का विशेष व्यंजन केक है, केक बिना क्रिसमस अधूरा होता है।

पढ़ें :- हाथरस नहीं जा पाए राहुल-प्रियंका, पीड़ित परिजन से मिले बिना दिल्ली लौटे

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...