सोनौली में बाल दुर्व्यापार मुक्त राष्ट्रव्यापी जनसंवाद में हुआ मंथन

IMG-20200222-WA0035

सोनौली । भारत नेपाल के सोनौली बॉर्डर पर बाल दुर्व्यापार मुक्त भारत के लिए राष्ट्रव्यापी जनसंवाद कार्यक्रम में जमकर हुआ मंथन।

Churned In Child Abuse Free Nationwide Mass Democracy In Sonauli :

शनिवार को सोनौली के एक स्थानीय होटल में मानव सेवा संस्थान सेवा तथा कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रन  फाउडेशन के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम मे विकास से वंचित समाज के कमजोर वर्गों को जीवन की मुख्यधारा से जुड़ने के लिए निरंतर कार्य करने वाली संस्थान सेवा ने आज बाल एवं मानव तस्करी की रोकथाम, सुरक्षित माइग्रेशन, महिला सशक्तिकरण, स्वास्थ्य, शिक्षा, बाल अधिकार के मुद्दो पर विस्तार से मंथन किया गया। जिसमें सभी ने एक स्वर से कहां कि इस अपराध पर तभी रोक लग सकता है जब सबका सहयोग मिले ।

मानव सेवा संस्थान सेवा के निदेशक राजेश मणि त्रिपाठी ने कहां कि वार्डर पर सौनौली में ह्यूमन ट्रैफकिंग यूनिट के कर्मचारी होने चहिए या अलग से ही सौनौली में एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की स्थापना हो उन्होने एक गृह स्थापित करने की मांग की ,एसएसबी,पुलिस ,एनजीओ  को कोई भी बच्चे व्यक्ति व महिला संदेहास्पद मिलती है तो कोई ऐसी जगह नही है जहाँ रखा जा सके , बार्डर पर एक संयुक्त टीम का गठन की भी बात कही जिसमे कार्यो की समीक्षा की जा सके ,पुलिस एसएसबी ,मानव सेवा संस्थान सेवा का एक ही उद्देश्य है मानव तस्करी रुके,बच्चों के अधिकारो की सुरक्षा हो ,बाल ब्यापार न हो । श्री मणि ने जनसंवाद कार्यक्रम को आगे बढाते हुए उन्होंने बच्चो से हेल्प लाइन नम्बरो की जानकारी ली और पूछा क्या पुलिस एसएसबी से डर लगता है। बच्चो ने कहा नहीं अब हिम्मत आता है।

श्री मणि ने एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ,बाल कल्याण समिति,एस एस बी ,पुलिस एव सौनौली नगर पंचायत के अध्यक्ष प्रतिनिधि सब मिलकर सौनौली को चाइल्ड ट्रेफिकिंग फ्री ,चाइल्ड ड्रग्स फ्री,चाइल्ड लेबर फ्री सौनौली बनाने की बात कही बॉर्डर से आये हुए प्रधान से भी जागरूकता लाने की बात कही ।

फर्जी प्लेसमेंट एजेंसी को चेक करने की जरूरत है ,जो टूरिस्ट बीजा पर विदेश भेजने का काम करते है उनको चिन्हित कर कार्यवाही होनी चाहिए।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सुधीर त्रिपाठी ने कहां कि मानव तस्करी एक संवेदनशील मुद्दा है। ड्रग्स की तस्करी पर विराम लगा है।ड्रग्स माफियाओ को कुचला गया। हम सभी सम्भय समाज की स्थापना करे तभी अपराधो पर विराम लगेगा।
इस मौके पर मनोज सिंह एसएसबी कमाडेंट 22 वी वाहिनी ने कहा हम स्तर पर मानव तस्करी रोकने का कार्य कर रहे है अपने जवानों को भी समय समय पर मानव सेवा संस्थान सेवा द्वारा प्रशिक्षण दिलाते रहते है ।

अजित सिंह राठौर एसएसबी कमाडेंट 66वी वाहिनी ने कहा हम तैयार है आप के सहयोग की आवश्कता है बाल अधिकारों का हनन एव मानव तस्करी इस सीमा पर नही होने देंगे ।

राजू कुमार साव क्षेत्राधिकारी नौतनवा ने कहा कि पुलिस मुस्तैद है हम सभी मिलकर इस पर कार्य कर रहे है ।

धुवचन्द त्रिपाठी जिला प्रवोशन अधिकारी महराजगंज संजय प्रसाद एसएसबी सहायक कमांडेंट,धर्मेद्र सिंह ,रोहन शेन आदि लोगो ने अपने विचार रखा।

इसके पहले डेस्क पर आसीन अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। अतिथियों को बुके भेंट कर उनका स्वागत किया गया।

कार्यक्रम में सेवा की लता मिश्रा, प्रीति घोष,धर्मेंद्र पासवान , सभासद अमीर आलम,बबलू सिंह,बेचन प्रसाद,पप्पू खान,ग्राम प्रधान,आंगनबाड़ी, आशा कार्यकर्ता एव कस्बे के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे ।

महराजगंज ब्यूरो प्रभारी -विजय चौरसिया

सोनौली । भारत नेपाल के सोनौली बॉर्डर पर बाल दुर्व्यापार मुक्त भारत के लिए राष्ट्रव्यापी जनसंवाद कार्यक्रम में जमकर हुआ मंथन। शनिवार को सोनौली के एक स्थानीय होटल में मानव सेवा संस्थान सेवा तथा कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रन  फाउडेशन के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम मे विकास से वंचित समाज के कमजोर वर्गों को जीवन की मुख्यधारा से जुड़ने के लिए निरंतर कार्य करने वाली संस्थान सेवा ने आज बाल एवं मानव तस्करी की रोकथाम, सुरक्षित माइग्रेशन, महिला सशक्तिकरण, स्वास्थ्य, शिक्षा, बाल अधिकार के मुद्दो पर विस्तार से मंथन किया गया। जिसमें सभी ने एक स्वर से कहां कि इस अपराध पर तभी रोक लग सकता है जब सबका सहयोग मिले । मानव सेवा संस्थान सेवा के निदेशक राजेश मणि त्रिपाठी ने कहां कि वार्डर पर सौनौली में ह्यूमन ट्रैफकिंग यूनिट के कर्मचारी होने चहिए या अलग से ही सौनौली में एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की स्थापना हो उन्होने एक गृह स्थापित करने की मांग की ,एसएसबी,पुलिस ,एनजीओ  को कोई भी बच्चे व्यक्ति व महिला संदेहास्पद मिलती है तो कोई ऐसी जगह नही है जहाँ रखा जा सके , बार्डर पर एक संयुक्त टीम का गठन की भी बात कही जिसमे कार्यो की समीक्षा की जा सके ,पुलिस एसएसबी ,मानव सेवा संस्थान सेवा का एक ही उद्देश्य है मानव तस्करी रुके,बच्चों के अधिकारो की सुरक्षा हो ,बाल ब्यापार न हो । श्री मणि ने जनसंवाद कार्यक्रम को आगे बढाते हुए उन्होंने बच्चो से हेल्प लाइन नम्बरो की जानकारी ली और पूछा क्या पुलिस एसएसबी से डर लगता है। बच्चो ने कहा नहीं अब हिम्मत आता है। श्री मणि ने एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ,बाल कल्याण समिति,एस एस बी ,पुलिस एव सौनौली नगर पंचायत के अध्यक्ष प्रतिनिधि सब मिलकर सौनौली को चाइल्ड ट्रेफिकिंग फ्री ,चाइल्ड ड्रग्स फ्री,चाइल्ड लेबर फ्री सौनौली बनाने की बात कही बॉर्डर से आये हुए प्रधान से भी जागरूकता लाने की बात कही । फर्जी प्लेसमेंट एजेंसी को चेक करने की जरूरत है ,जो टूरिस्ट बीजा पर विदेश भेजने का काम करते है उनको चिन्हित कर कार्यवाही होनी चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सुधीर त्रिपाठी ने कहां कि मानव तस्करी एक संवेदनशील मुद्दा है। ड्रग्स की तस्करी पर विराम लगा है।ड्रग्स माफियाओ को कुचला गया। हम सभी सम्भय समाज की स्थापना करे तभी अपराधो पर विराम लगेगा। इस मौके पर मनोज सिंह एसएसबी कमाडेंट 22 वी वाहिनी ने कहा हम स्तर पर मानव तस्करी रोकने का कार्य कर रहे है अपने जवानों को भी समय समय पर मानव सेवा संस्थान सेवा द्वारा प्रशिक्षण दिलाते रहते है । अजित सिंह राठौर एसएसबी कमाडेंट 66वी वाहिनी ने कहा हम तैयार है आप के सहयोग की आवश्कता है बाल अधिकारों का हनन एव मानव तस्करी इस सीमा पर नही होने देंगे । राजू कुमार साव क्षेत्राधिकारी नौतनवा ने कहा कि पुलिस मुस्तैद है हम सभी मिलकर इस पर कार्य कर रहे है । धुवचन्द त्रिपाठी जिला प्रवोशन अधिकारी महराजगंज संजय प्रसाद एसएसबी सहायक कमांडेंट,धर्मेद्र सिंह ,रोहन शेन आदि लोगो ने अपने विचार रखा। इसके पहले डेस्क पर आसीन अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। अतिथियों को बुके भेंट कर उनका स्वागत किया गया। कार्यक्रम में सेवा की लता मिश्रा, प्रीति घोष,धर्मेंद्र पासवान , सभासद अमीर आलम,बबलू सिंह,बेचन प्रसाद,पप्पू खान,ग्राम प्रधान,आंगनबाड़ी, आशा कार्यकर्ता एव कस्बे के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे । महराजगंज ब्यूरो प्रभारी -विजय चौरसिया