1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. भावी पीढ़ी के लिए एक सशक्त भारत की रूप-रेखा तैयार करना जरूरी : डॉ. अनिल प्रकाश जोशी

भावी पीढ़ी के लिए एक सशक्त भारत की रूप-रेखा तैयार करना जरूरी : डॉ. अनिल प्रकाश जोशी

केन्द्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (CIMAP ) में बुधवार को वार्षिक दिवस  (CIMAP Annual Day) मनाया गया। इस अवसर पर आज विद्यार्थियों, वैज्ञानिकों, तकनीकी एवं प्रसाशनिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने आज एमएसटीम लाइव के माध्यम से भाग लिया।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। केन्द्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (CIMAP ) में बुधवार को वार्षिक दिवस  (CIMAP Annual Day) मनाया गया। इस अवसर पर आज विद्यार्थियों, वैज्ञानिकों, तकनीकी एवं प्रसाशनिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने आज एमएसटीम लाइव के माध्यम से भाग लिया। इस अवसर पर डॉ. प्रबोध कुमार त्रिवेदी, निदेशक, सीमैप ने आंवले के पौधे का वृक्षारोपण किया । वार्षिक दिवस  व्याख्यान डॉ. अनिल प्रकाश जोशी, पदमभूषण व पदमश्री, संस्थापक, हेस्को देहरादून द्वारा दिया गया।

पढ़ें :- अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों में बैठकर सुने फरियादियों की फरियाद, जिलाधाकारी ने दिए निर्देश

केन्द्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान (CIMAP ) के निदेशक डॉ. प्रबोध कुमार त्रिवेदी (Director Dr. Prabodh Kumar Trivedi) ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया । इस अवसर पर डॉ. प्रबोध कुमार त्रिवेदी ने संस्थान में चल रही गतिविधियों और उपलब्धियों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने सीएसआईआर एरोमा मिशन (CSIR Aroma Mission) का विशेष रूप से उल्लेख किया और सीमैप द्वारा ग्रामीण सशक्तिकरण (Rural Empowerment) के लिए संस्थान की प्रौद्योगिकियों व गतिविधियों की भी जानकारी दी। डॉ. संजय कुमार यादव ने मुख्य अतिथि का परिचय दिया।

डॉ. अनिल प्रकाश जोशी, ने “Ecological Economy” पर विस्तृत व्याख्यान दिया। प्रो. जोशी ने कहा कि प्रगति की दौड़ में जीडीपी के बजाए ग्रॉस एन्वायरन्मेंट प्रोग्राम (GEP) पर महत्व दिया जाना चाहिए। अब हमें गावों के समग्र विकास की पहल करनी चाहिए और अपने संसाधनों का सदुपयोग करते हुए भावी पीढ़ी के लिए एक सशक्त भारत की रूप-रेखा तैयार करनी चाहिए । उन्होंने यह भी बताया कि जलवायु परिवर्तन से सबसे ज़्यादा नुकसान ग़रीबी में रह रहे लोगों का होगा। कार्यक्रम के अंत में डॉ. आभा मीना ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...