राज्यसभा में नागरिकता बिल पेश, शिवसेना ने फिर बदले सुर, कर सकती है सरकार के पक्ष में वोटिंग ?

Shiv Sena
राज्यसभा में नागरिकता बिल पेश, शिवसेना ने फिर बदले सुर, कर सकती है सरकार के पक्ष में वोटिंग ?

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन बिल पर लगातार विपक्ष का हंगामा जारी है। सोमवार को लोकसभा में बिल पेश होने के बाद पूर्ण बहुमत से पास हो गया था वहीं आज बिल राज्य सभा में पेश किया गया है। शिवसेना ने सोमवार को लोकसभा में इस बिल के पक्षे में वोटिंग की थी लेकिन मंगलवार को कहा था कि वह चीजें स्पष्ट होने तक बिल का समर्थन नहीं करेगी। वहीं आज जब राज्यसभा में बिल पेश किया गया तो शिवसेना ने एकबार फिर सुर बदल दिये हैं।

Citizenship Bill Introduced In Rajya Sabha Shiv Sena Again Changes Tone May Vote In Favor Of Government :

शिवसेना की तरफ से बयान आया है कि उन्होंने वोटिंग को लेकर अब तक कोई फैसला ही नहीं लिया है।
शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि नागरिकता संशोधान बिल पर शिवसेना को राज्यसभा में क्या करना है, इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि हम चर्चा के दौरान देखेंगे कि किस तरीके के मुद्दे सामने आ रहे हैं और उसी के आधार पर निर्णय लिया जाएगा कि क्या करना है।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर प्रदेश सरकार बनाई है। जहां कांग्रेस पूरी तरह से नागरिकता संसोधन बिल का विरोध कर रही है वहीं लोकसभा में 9 दिसंबर को नागरिकता संशोधन बिल पर हुई वोटिंग में शिवसेना ने अपनी सहयोगी कांग्रेस के खिलाफ जाकर मोदी सरकार का समर्थन किया था। बताया जा रहा है कि लोकसभा में बिल पास होने के बाद शिवसेना के इस रुख पर कांग्रेस ने ऐतराज जताया तो मंगलवार को उसने अपने सुर बदल लिए थे लेकिन एकबार फिर शिवसेना ने कह दिया है कि चर्चा के बाद तय होगा कि वोटिंग पक्ष में करनी है या विपक्ष में।

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन बिल पर लगातार विपक्ष का हंगामा जारी है। सोमवार को लोकसभा में बिल पेश होने के बाद पूर्ण बहुमत से पास हो गया था वहीं आज बिल राज्य सभा में पेश किया गया है। शिवसेना ने सोमवार को लोकसभा में इस बिल के पक्षे में वोटिंग की थी लेकिन मंगलवार को कहा था कि वह चीजें स्पष्ट होने तक बिल का समर्थन नहीं करेगी। वहीं आज जब राज्यसभा में बिल पेश किया गया तो शिवसेना ने एकबार फिर सुर बदल दिये हैं। शिवसेना की तरफ से बयान आया है कि उन्होंने वोटिंग को लेकर अब तक कोई फैसला ही नहीं लिया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि नागरिकता संशोधान बिल पर शिवसेना को राज्यसभा में क्या करना है, इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि हम चर्चा के दौरान देखेंगे कि किस तरीके के मुद्दे सामने आ रहे हैं और उसी के आधार पर निर्णय लिया जाएगा कि क्या करना है। आपको बता दें कि महाराष्ट्र में शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर प्रदेश सरकार बनाई है। जहां कांग्रेस पूरी तरह से नागरिकता संसोधन बिल का विरोध कर रही है वहीं लोकसभा में 9 दिसंबर को नागरिकता संशोधन बिल पर हुई वोटिंग में शिवसेना ने अपनी सहयोगी कांग्रेस के खिलाफ जाकर मोदी सरकार का समर्थन किया था। बताया जा रहा है कि लोकसभा में बिल पास होने के बाद शिवसेना के इस रुख पर कांग्रेस ने ऐतराज जताया तो मंगलवार को उसने अपने सुर बदल लिए थे लेकिन एकबार फिर शिवसेना ने कह दिया है कि चर्चा के बाद तय होगा कि वोटिंग पक्ष में करनी है या विपक्ष में।