1. हिन्दी समाचार
  2. नागरिकता कानून : जामिया हिंसा मामले में 10 गिरफ्तार, एक भी छात्र नहीं, दोपहर में होगी पेशी

नागरिकता कानून : जामिया हिंसा मामले में 10 गिरफ्तार, एक भी छात्र नहीं, दोपहर में होगी पेशी

Citizenship Law 10 Arrested In Jamia Violence Case Not A Single Student Will Appear In Afternoon

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ देश के कई हिस्सों में ​इसका विरोध हो रहा है। दिल्ली के जामिया नगर इलाके में भी इस ​विधेयक को लेकर हिंसा और आगजनी हुई। इस मामले में पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार किए गये आरोपी आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं और इनमें से कोई छात्र नहीं है। साउथ दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में हुई हिंसा के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज कर दी थी।

पढ़ें :- विश्व के सबसे बड़े पर्यटन क्षेत्र के रूप में उभर रहा है केवड़िया: PM मोदी

बता दें कि, इस बिल को लेकर रविवार न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में अराजक तत्वों ने जमकर तांडव मचाया था। इस दौरान उपद्रवियों ने तीन बसों समेत कई गाड़ियों में आग लगा दी थी। इसके साथ ही दर्जनों गाड़ियों तोड़फोड़ की थी। वहीं, इस मामले में पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की थी। पुलिस का कहना है कि इस मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और इनमें से कोई छात्र नहीं है।

वहीं, गिरफ्तार लोगों की आपराधिक पृष्टभूमि भी है। पुलिस सूत्रों की माने तो कुछ अराजकत्व जामिया का फर्जी आईकार्ड बनवाकर प्रदर्शन में शामिल हुए थे। असली स्टूडेंट्स से कहीं अधिक हिंसा भड़काने में फर्जी छात्रों का हाथ था। हिरासत में लिए गए ऐसे 51 स्टूडेंट्स की पुलिस ने जांच करानी शुरू कर दी है।

इनमें से 36 को कालकाजी से और 15 को न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी इलाके से हिरासत में लिया गया था। ये सभी खुद को जामिया, डीयू के हिंदू कॉलेज और इग्नू के स्टूडेंट होने का दावा कर रहे थे। पुलिस को इनमें से कुछ पर शक है कि उन्होंने जामिया के फर्जी आई कार्ड बनवा रखे थे।

पढ़ें :- सीएम योगी ने झांसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव का किया वर्चुअल शुभारम्भ, कहा-बुन्देलखण्ड में मिलेगी ...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...