हैदराबाद एनकाउंटर पर CJI ने उठाये सवाल, बोले-बदले की भावना से किया गया न्याय

CJI
हैदराबाद एनकाउंटर पर CJI ने उठाये सवाल, बोले-बदले की भावना से किया गया न्याय

नई दिल्ली। हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुए गैंगरेप के आरोपियों का शुक्रवार भोर पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया था जिसके बाद पूरे देश के लोगों ने हैदराबाद पुलिस की सराहना की। वहीं अब सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने एनकाउंटर पर सवाल खड़े कर दिये हैं। उन्होने कहा कि इस मामले में न्याय बदले की भावना से किया गया है।

Cji Raises Questions On Hyderabad Encounter Said Justice Done In Retaliation :

चीफ जस्टिस जोधपुर में राजस्थान हाईकोर्ट की नई इमारत के उद्घाटन समारोह शामिल होने गये थे। तभी उन्होने कहा कि “मैं नहीं समझता हूं कि न्याय कभी भी जल्दबाजी में किया जाना चाहिए, मैं समझता हूं कि अगर न्याय बदले की भावना से किया जाए तो ये अपना मूल स्वरूप खो देता है”. उनका कहना था कि न्याय को कभी भी बदले का रूप नहीं लेना चाहिए।

आपको बता दें कि बीते 27 नवंबर को हैदराबाद की एक महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप के बाद उसे जिंदा जला दिया गया था। 28 नवंबर सुबह शव मिला तो हड़कंप मच गया। इस मामले मे हैदराबाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया था। वहीं शुक्रवार की भोर उन चारो का एनकाउंटर कर दिया गया। पुलिस का कहना था कि शादनगर के पास चटनपल्ली में जब क्राईम सीन के लिए आरोपियों को ले जाया गया तो आरोपियों ने पुलिस के हथियार छीनने कर भागने की कोशिश की, उसके बाद पुलिस ने चारों को मार दिया।

नई दिल्ली। हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुए गैंगरेप के आरोपियों का शुक्रवार भोर पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया था जिसके बाद पूरे देश के लोगों ने हैदराबाद पुलिस की सराहना की। वहीं अब सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे ने एनकाउंटर पर सवाल खड़े कर दिये हैं। उन्होने कहा कि इस मामले में न्याय बदले की भावना से किया गया है। चीफ जस्टिस जोधपुर में राजस्थान हाईकोर्ट की नई इमारत के उद्घाटन समारोह शामिल होने गये थे। तभी उन्होने कहा कि "मैं नहीं समझता हूं कि न्याय कभी भी जल्दबाजी में किया जाना चाहिए, मैं समझता हूं कि अगर न्याय बदले की भावना से किया जाए तो ये अपना मूल स्वरूप खो देता है". उनका कहना था कि न्याय को कभी भी बदले का रूप नहीं लेना चाहिए। आपको बता दें कि बीते 27 नवंबर को हैदराबाद की एक महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप के बाद उसे जिंदा जला दिया गया था। 28 नवंबर सुबह शव मिला तो हड़कंप मच गया। इस मामले मे हैदराबाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया था। वहीं शुक्रवार की भोर उन चारो का एनकाउंटर कर दिया गया। पुलिस का कहना था कि शादनगर के पास चटनपल्ली में जब क्राईम सीन के लिए आरोपियों को ले जाया गया तो आरोपियों ने पुलिस के हथियार छीनने कर भागने की कोशिश की, उसके बाद पुलिस ने चारों को मार दिया।