आजम खां की मुसीबतें बढ़ीं, हाईकोर्ट ने CJM और SSP लखनऊ को किया तलब

लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी जल निगम के अभियंता की बर्खास्तगी के मामले में यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री और यूपी जल निगम के चेयरमैन मो0 आजम खां द्वारा अदालत की अवमानना के मामले में सख्त तेवर अख्तियार करते हुए यूपी के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) को मंगलवार को तलब किया है। दरअसल 1 मार्च को हाईकोर्ट ने आजम खां को अदालत में तलब होने के लिए समन जारी किया था। आजम खां की ओर से सोमवार को पेश हुए वकील ने अदालत से आजम की व्यक्तिगत पेशी से छूट देने की मांग की थी।



मिली जानकारी के मुताबिक न्यायाधीश सुधीर अग्रवाल और रविन्द्र नाथ मिश्रा की संयुक्त खंडपीठ ने सोमवार को मामले की सुनवाई करते हुए सवाल किया कि आखिर क्या कारण रहें कि लखनऊ के सीजेएम और एसएसपी ने 1 मार्च को अदालत द्वारा जारी किए गए समन को तामीर नहीं करवाया। अदालत के आदेश का पालन नहीं होने की सूरत में सीजेएम और एसएसपी द्वारा क्या आजम खां के खिलाफ कुछ कानूनी कार्रवाई की गई। इसके जवाब के साथ दोनों अधिकारियों को मंगलवार को अदालत में पेश होने को कहा गया है।



इसके साथ ही अदालत ने आजम का पक्ष रख रहे सरकारी वकील द्वारा उनकी पेशी के लिए मांगी गई छूट की मांग को यह कहते हुए नकार दिया कि अगर वादी अदालत के आदेश का सम्मान नहीं करता तो उसकी किसी भी मांग को स्वीकार नहीं किया जा सकता।




अदालत के कड़े तेवरों को देखते हुए जल निगम अभियंता की बर्खास्तगी के मामले में आजम खां की मुसीबतें बढ़ती नजर आ रहीं हैं।

Loading...