इस महान खिलाड़ी के अनुसार भारत नहीं यह टीम जीत सकती है चैंपियंस ट्रॉफी

नई दिल्ली। चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का विजेता कौन होगा इस बात के भी कयास लगाए जाने लगे है, साथ ही फाइनल में जिन दो टीमों की भिड़ंत होनी है उसको लेकर क्रिकेट पंडितों की राय है कि यह भारत और इंग्लैंड के बीच ही होगा। अब इसी क्रम में ऑस्ट्रेलिया टीम के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का मानना है कि चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का फाइनल मुकाबला भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जाने की संभावना है। क्लार्क ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के बाहर होने के बाद अब फाइनल में भारत और इंग्लैंड के बीच मैच होने की ज्यादा संभावना है। इस बार इस खिताब के लिए इंग्लैंड प्रबल दावेदार है और वो फाइनल में जाने का हकदार है।



क्लार्क ने विराट और कुंबले के बीच मतभेदों के बारे में कहा कि महान रिश्तों में बड़ी चुनौतियां होती हैं। किसी भी रिश्ते में खुलेपन और ईमानदारी की जरूरत होती है। क्रिकेट में भी ऐसा ही है जिसमें एक कप्तान और एक कोच होता है। आपको ईमानदार रहना होता है। उन्होंने कहा मतभेद होना लाजमी है लेकिन उन्हें कमरे के भीतर सुलझाया जा सकता है। किसी भी अच्छे रिश्ते में चुनौतियां भी बड़ी होती हैं। कुंबले और कोहली के मामले में उनका कुछ कहना गलत होगा क्योंकि वह ड्रेसिंग रूम का हिस्सा नहीं हैं। मैं अनिल कुंबले को जानता हूं जो बेहतरीन इंसान हैं कोच का काम ड्रेसिंग रूम में मौजूद कप्तान की मदद करना है। मुझे नहीं पता कि क्या मसला है क्योंकि मैं ड्रेसिंग रूम का हिस्सा नहीं हूं। विराट के बारे में क्लार्क ने कहा कि विराट शानदार कप्तान है। वह काफी प्रतिस्पर्धी है और उसी तरह से कप्तानी करता है। अब तक तकनीकी तौर पर वह बेहतरीन साबित हुआ है।