पटना: अवैध अतिक्रमण हटाने गयी पुलिस टीम पर हमला, जेसीबी फूंकी, 40 राउंड फायर

patna

पटना। बिहार की राजधानी पटना के राजीव नगर में अवैध अतिक्रमण हटाने गयी नगर निगम व पुलिस प्रशासन की टीम पर लोगों ने हमला कर दिया। इस हमले में कई पुलिसकर्मियों समेत मीडियाकर्मी भी घायल हुए हैं। बताया जा रहा है कि अतिक्रमण हटाने आये बुलडोजर में लोगों ने आग लगा दी और पूरी टीम पर पथराव कर दिया। भीड़ को हटाने के लिये पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। जिसके बाद भीड़ पर काबू पाया जा सका।
स्थानीय प्रशासन राजीव नगर क्षेत्र में अवैध निर्माण और अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंचा था, इसी दौरान उन्हें स्थानीय निवासियों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। स्थानीय लोगों ने पुलिस टीम पर पत्थर फेंके और एक पुलिस जीप और जेसीबी मशीन में आग लगा दी। हालात पर काबू पाने के लिये पुलिस ने करीब 40 राउंड फायर की है। इस घटना में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, साथ ही कुछ मीडियाकर्मियों को भी चोटें आई हैं।
बताया जा रहा है, भीड़ ने न केवल पुलिस पर पथराव किया बल्कि पुलिसकर्मियों को कई किलोमीटर तक दौड़ाया भी। इस दौरान जेसीबी मशीन का ड्राइवर भी उसे छोड़कर भाग गया। फिलहाल पुलिस-प्रशासन हालात सामान्य करने में जुटा हुआ है।

Clash Between Locals And Police During An Anti Encroachment Drive In Bihar Patna :

ये है विवाद-

राजीव नगर के घुड़दौड़ रोड की 1024 एकड़ जमीन को राज्य सरकार ने साल 1974 में हाउसिंग बोर्ड को देने का फैसला किया था। सरकार ने जमीन हाउसिंग बोर्ड के नाम तो कर दिया, लेकिन स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि उन्हें इसके बदले मुआवजा नहीं मिला। मुआवजा नहीं मिलने के चलते किसानों ने जमीन पर कब्जा बनाए रखा और अवैध रूप से यहां मकान बनते गए। यही नहीं किसानों ने बिना कागजात के जमीन बेंच डाली, जिस पर लोगों ने घर बना लिए।

पटना। बिहार की राजधानी पटना के राजीव नगर में अवैध अतिक्रमण हटाने गयी नगर निगम व पुलिस प्रशासन की टीम पर लोगों ने हमला कर दिया। इस हमले में कई पुलिसकर्मियों समेत मीडियाकर्मी भी घायल हुए हैं। बताया जा रहा है कि अतिक्रमण हटाने आये बुलडोजर में लोगों ने आग लगा दी और पूरी टीम पर पथराव कर दिया। भीड़ को हटाने के लिये पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। जिसके बाद भीड़ पर काबू पाया जा सका। स्थानीय प्रशासन राजीव नगर क्षेत्र में अवैध निर्माण और अतिक्रमण हटाने के लिए पहुंचा था, इसी दौरान उन्हें स्थानीय निवासियों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। स्थानीय लोगों ने पुलिस टीम पर पत्थर फेंके और एक पुलिस जीप और जेसीबी मशीन में आग लगा दी। हालात पर काबू पाने के लिये पुलिस ने करीब 40 राउंड फायर की है। इस घटना में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, साथ ही कुछ मीडियाकर्मियों को भी चोटें आई हैं। बताया जा रहा है, भीड़ ने न केवल पुलिस पर पथराव किया बल्कि पुलिसकर्मियों को कई किलोमीटर तक दौड़ाया भी। इस दौरान जेसीबी मशीन का ड्राइवर भी उसे छोड़कर भाग गया। फिलहाल पुलिस-प्रशासन हालात सामान्य करने में जुटा हुआ है।ये है विवाद-राजीव नगर के घुड़दौड़ रोड की 1024 एकड़ जमीन को राज्य सरकार ने साल 1974 में हाउसिंग बोर्ड को देने का फैसला किया था। सरकार ने जमीन हाउसिंग बोर्ड के नाम तो कर दिया, लेकिन स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि उन्हें इसके बदले मुआवजा नहीं मिला। मुआवजा नहीं मिलने के चलते किसानों ने जमीन पर कब्जा बनाए रखा और अवैध रूप से यहां मकान बनते गए। यही नहीं किसानों ने बिना कागजात के जमीन बेंच डाली, जिस पर लोगों ने घर बना लिए।