यूपी के ग्रेटर नोएडा में 11वीं की छात्रा के साथ चलती कार में गैंगरेप

नोएडा। देश की राजधानी दिल्ली से सटे यूपी के ग्रेटर नोएडा में चलती कार में 11वीं की छात्रा के साथ चलती कार में गैंगरेप की वारदात सामने आई है। नोएडा पुलिस ने बताया है कि घटना 18 अप्रैल की है, पीड़िता के पिता ने गुशुदगी का मामला दर्ज करवाया था, पीड़िता के बयान के बाद तीन युवकों के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज कर लिया। पुलिस के मुताबिक दो आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है जबकि तीसरा फरार है।

Class 11th Student Gang Raped In Moving Car At Grater Noida Of Uttar Pradesh :

पीड़िता के मुताबिक ग्रेटर नोएडा स्थित अपने स्कूल से छुट्टी के समय स्कूल बस छूट जाने की वजह से वह पैदल घर वापस जा रही थी। इसी दौरान उसके साथ पढ़ने वाले एक छात्र ने अपनी कार रोककर उसे घर तक लिफ्ट देने का आॅफर दिया। परिचित होने की वजह से छात्रा कार में बैठ गई। जिसके बाद कार में उसे ड्रिंक आॅफर की गई। कई बार इंकार के बाद सहपाठी के लगातार आॅफर करने पर उसने ड्रिंक पी ली। ड्रिंक में कुछ नशीला पदार्थ मिला था। जिस वजह से उसे नशा होने लगा। उसकी स्थिति का फायदा उठाते हुए कार में मौजूद सहपाठी और उसके दो अन्य मित्रों ने उसके साथ बारी बारी से रेप किया। इस दौरान उसने विरोध भी किया लेकिन नशे की हालत में वह अपनी पूरी शक्ति का प्रयोग नहीं कर सकी।

कई घंटों तक चलती कार में उसके साथ गैंगरेप होता रहा, जिसके बाद वे लोग उसे बेहोशी की हालत में सड़क के किराने ​छोड़कर फरार हो गए।

आपको बता दें कि पीड़िता की उम्र 16 वर्ष बताई जा रही है, जबकि गैंगरेप के आरोपी उसके सहपाठी की उम्र 17 वर्ष बताई जा रही है।दो अन्य आरोपियों में एक सहपाठी का रिश्तेदार और दूसरा दोस्त बताया जा रहा है।

आपको बता दें कि बीते शनिवार को ही केन्द्र सरकार ने नाबालिग बच्चियों से रेप का कानून सख्त बनाने के लिए कानून में संशोधन करते हुए एक आध्यादेश जारी किया है। जिसके मुताबिक 12 साल तक की बच्चियों से रेप के मामलों में दोषियों को 20 साल से लेकर उम्र कैद या फिर मृत्युदंड तक की सजा का प्रवाधान होगा। जबकि 12 से 16 साल की नाबालिगों से रेप के मामले में 12 से 20 साल की कैद या फिर उम्र कैद की सजा का प्रावधान किया गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि नए आध्यादेश के आने के बाद केवल उत्तर प्रदेश में ही करीब आधा दर्जन ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिनमें रेप पीड़िताएं नाबालिग हैं और अधिकांश वारदातों में आरोपी भी नाबालिग हैं।

नोएडा। देश की राजधानी दिल्ली से सटे यूपी के ग्रेटर नोएडा में चलती कार में 11वीं की छात्रा के साथ चलती कार में गैंगरेप की वारदात सामने आई है। नोएडा पुलिस ने बताया है कि घटना 18 अप्रैल की है, पीड़िता के पिता ने गुशुदगी का मामला दर्ज करवाया था, पीड़िता के बयान के बाद तीन युवकों के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज कर लिया। पुलिस के मुताबिक दो आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है जबकि तीसरा फरार है। पीड़िता के मुताबिक ग्रेटर नोएडा स्थित अपने स्कूल से छुट्टी के समय स्कूल बस छूट जाने की वजह से वह पैदल घर वापस जा रही थी। इसी दौरान उसके साथ पढ़ने वाले एक छात्र ने अपनी कार रोककर उसे घर तक लिफ्ट देने का आॅफर दिया। परिचित होने की वजह से छात्रा कार में बैठ गई। जिसके बाद कार में उसे ड्रिंक आॅफर की गई। कई बार इंकार के बाद सहपाठी के लगातार आॅफर करने पर उसने ड्रिंक पी ली। ड्रिंक में कुछ नशीला पदार्थ मिला था। जिस वजह से उसे नशा होने लगा। उसकी स्थिति का फायदा उठाते हुए कार में मौजूद सहपाठी और उसके दो अन्य मित्रों ने उसके साथ बारी बारी से रेप किया। इस दौरान उसने विरोध भी किया लेकिन नशे की हालत में वह अपनी पूरी शक्ति का प्रयोग नहीं कर सकी। कई घंटों तक चलती कार में उसके साथ गैंगरेप होता रहा, जिसके बाद वे लोग उसे बेहोशी की हालत में सड़क के किराने ​छोड़कर फरार हो गए। आपको बता दें कि पीड़िता की उम्र 16 वर्ष बताई जा रही है, जबकि गैंगरेप के आरोपी उसके सहपाठी की उम्र 17 वर्ष बताई जा रही है।दो अन्य आरोपियों में एक सहपाठी का रिश्तेदार और दूसरा दोस्त बताया जा रहा है। आपको बता दें कि बीते शनिवार को ही केन्द्र सरकार ने नाबालिग बच्चियों से रेप का कानून सख्त बनाने के लिए कानून में संशोधन करते हुए एक आध्यादेश जारी किया है। जिसके मुताबिक 12 साल तक की बच्चियों से रेप के मामलों में दोषियों को 20 साल से लेकर उम्र कैद या फिर मृत्युदंड तक की सजा का प्रवाधान होगा। जबकि 12 से 16 साल की नाबालिगों से रेप के मामले में 12 से 20 साल की कैद या फिर उम्र कैद की सजा का प्रावधान किया गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि नए आध्यादेश के आने के बाद केवल उत्तर प्रदेश में ही करीब आधा दर्जन ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिनमें रेप पीड़िताएं नाबालिग हैं और अधिकांश वारदातों में आरोपी भी नाबालिग हैं।