1. हिन्दी समाचार
  2. नेपाल कस्टम संघ के खिलाफ में आज से सोनौली में क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल

नेपाल कस्टम संघ के खिलाफ में आज से सोनौली में क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल

Clearing Agents And Transporters Strike In Sonouli From Today Against Nepal Customs Union

By Editor-Vijay Chaurasiya 
Updated Date

सोनौली । नेपाल कस्टम में केवल नेपालियों की एंट्री के फरमान के बाद भारतीय क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टरों ने शुक्रवार से कलमबंद हड़ताल का ऐलान किया है। इससे सोनौली सीमा से शुक्रवार को भारतीय मालवाहक ट्रकों के नेपाल में प्रवेश पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं।

पढ़ें :- मेरे नाम का बेजा इस्तेमाल करना बंद करें रिपब्लिकन समूह — डोनाल्ड ट्रंप

सोनौली क्लियरिंग एजेंट और ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष आरके गुप्ता ने कहा कि दो दिन पहले सोनौली क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टरों ने तीन सूत्रीय मांग पत्र को लेकर हड़ताल की थी। मांग यह थी कि जिस तरह वर्षों से वह नेपाल कस्टम मैं कार्य करते आ रहे हैं उन्हें नेपाल कस्टम में आने की अनुमति दी जाए।

नेपाल में उन्हें सुरक्षा प्रदान किया जाए और नेपाल कस्टम ने जो पुराना परिचय पत्र दिया है वही लागू रहे। नेपाल प्रशासन ने तीनों मांग को मान लिया था। जिसके बाद हड़ताल वापस हो गई थी। गुरुवार को नेपाल कस्टम संघ की तरफ से नया फरमान आया कि जिसके पास नेपाली नागरिकता होगी केवल उसी को नेपाल कस्टम में एंट्री मिलेगी। नया कार्ड फिर से बनाया जाएगा।

इसके बाद गुरुवार को सोनौली में भारतीय क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर की बैठक हुई। इसमें संजय अग्रवाल, राजसिंह, वकील अहमद,संतोष पांडेय, हरिश्चंद्र, नीरज जायसवाल, दीपक जायसवाल,सूरज ,संदीप आदि क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर शामिल हुए। बैठक में यह निर्णय लिया गया शुक्रवार से भारतीय क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर कलमबंद हड़ताल पर चले जाएंगे। यह हड़ताल तब तक जारी रहेगा जब तक कोई लिखित या ठोस आश्वासन नहीं मिल जाता।

एसोसिएशन के अध्यक्ष आरके गुप्ता ने नेपाल की सभी सीमा पर नेपाल कस्टम संघ सोची समझी साजिश के तहत हजारों भारतीयों को बेरोजगार करना चाह रही है। वीरगंज और रक्सौल में गुरुवार से हड़ताल शुरू हो गई है। सोनौली में सभी एजेंट आज शुक्रवार से कलमबंद हड़ताल पर चले जाएंगे।

पढ़ें :- एप्पल बंद करने जा रहा है अपना ये कंप्यूटर, बचे हुए है कुछ आखिरी यूनिट्स

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...