अखिलेश यादव ने 2017 के चुनावों पहले ही स्वीकार ली है हार: मौर्य

लखनऊ। यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को बीजेपी प्रदेश कार्यालय में पत्रकार वार्ता कर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने कांग्रेस से गठबंधन की बात कह कर 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली है। वह पिछले छह महीनो से नकली मुख्यमंत्री की भूमिका निभा रहे हैं। वह अधूरी योनजाओं का उद्घाटन कर लोगों को धोखा दे रहे हैं। उन्होंने पिछले दिनों जिस आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे और लखनऊ मैट्रो का उद्घाटन किया है उसे जनता के लिए तैयार होने में अभी छह महीने का समय लगेगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले से बसपा सुप्रीमो मायावती बौखलाई हुई हैं। बसपा सुप्रीमो दलितो व गरीबों की गरीबी को बेचती थी तथा बीजेपी गरीबी मिटाने के लिए कार्य कर रही है।




मौर्य ने कहा कि सूबे की जनता बुआ और बबुआ से त्रस्त है। जनता परिवर्तन के मूड में है, यूपी भाजपा बड़ी विजय की ओर है। अखिलेश का विकास दिखावा है। सपा राज की घोर अराजकता, ध्वस्त कानून व्यवस्था, नौकरियों की बिक्री, भारी भ्रष्टाचार, विधानमण्डल द्वारा पारित बजट का खर्च न हो पाना तथा विकास योजनाओं के लिए केन्द्र सरकार द्वारा अवमुक्त किये गये धन का सदुपयोग न हो पाना सपा सरकार के खिलाफ बड़े मुद्द है।

मौर्य ने मीडिया से बात चीत के दौरान यूपी में विधानसभा चुनावों को लेकर शुरू की गई परिवर्तन यात्रा और विभिन्न मोर्चों के आयोजनों की जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि पार्टी की परिवर्तन यात्रा अब तक 47 जिलों की 223 विधानसभा सीटों से गुजर चुकी है। शनिवार तक सभी यात्राओं को मिलाकर 9055 किलोमीटर की दूरी तय की जा चुकी है। पीएम नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेंत पार्टी के करीब 17 राष्ट्रीय नेताओं ने प्रदेश में अपनी जनसभाएं की हैं। इस दौरान 126 ऐसी छोटी सभाएं हुई हैं 20 हजार से ज्यादा की भीड़ जुटी है। आंकड़ों को पेश कर रहे मौर्य ने बताया कि परिवर्तन यात्रा के माध्यम से पार्टी ने अब तक 86 लाख अधिक लोगों से सीधे संवाद स्थापित किया गया है। पिछड़ा वर्ग मोर्चे के तहत आयोजित कार्यक्रमों के माध्यम से पार्टी अभीतक करीब 10 लाख लोगों से संवाद कर चुकी है।




अब तक ​की परिवर्तन यात्राओं को मिले जनसमर्थन से गदगद नजर आए मौर्य ने कहा कि उन्हें विश्वास हो चला है कि बीजेपी सूबे में 300 से अधिक सीटें जीतने के साथ अद्वितीय सफलता का इतिहास बनाएगी। उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि पार्टी 2014 के लोकसभा चुनावों के प्रदर्शन को दोहराते हुए 2017 के विधानसभा चुनावों में जीत हासिल करेगी और 2019 में यूपी की सभी 80 लोकसभा सीटों पर जीत के साथ पीएम नरेन्द्र मोदी को पुन: प्रधानमंत्री बनाएंगे।