तीन मंत्रियों संग धरने पर बैेठे एलजी से नाराज अरविन्द केजरीवाल

arvind kejriwal
तीन मंत्रियों संग धरने पर बैेठे एलजी से नाराज अरविन्द केजरीवाल

Cm Arvind Kejriwal On Stick In Ld Office At Delhi

नई दिल्ली। हड़ताल जैसी स्थित बनाने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई न किए जाने को लेकर एक बार फिर एलजी और केजरीवाल सरकार में टकराव ​की शुरु हो गया है। इसी सिलसिले में सोमवार को केजरीवाल अपने तीन मंत्रियों के साथ एलजी से मिलने गए थे, लेकिन वहां से संतोषजनक जवाब न मिलने के पर केजरीवाल वही धरने पर बैठ गए।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा कि जब तक एलजी इन आईएएस अधिकारियों पर कार्रवाई का आदेश जारी नहीं करते हैं वे यहां से नहीं जाएंगे। मुख्यमंत्री के साथ सरकार के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया, स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन व श्रम मंत्री गोपाल राय भी एलजी हाउस पर मौजूद हैं। बता दें कि सोमवार को केजरीवाल अपने तीन मंत्रियों के साथ एलजी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। उन्होंने एलजी को एक ज्ञापन सौंपा और अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की। लेकिन एलजी का इन बातों पर सकारात्मक रूख न दिखने पर वो वही धरने पर बैठ गएं

बता दें कि पिछले कई दिनों से सरकारी बैठकों से गायब रहने वाले अधिकारियों को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल और केजरीवाल सरकार में टकरावा हुआ है। अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को एलजी को उनके घर पर ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि दिल्ली में अराजकता जैसी स्थिति है। अधिकारी बीते चार महीने से कोई काम नहीं कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारी जो कर रहे हैं वह उनके सर्विसेज रूल के खिलाफ है।

मुख्यमंत्री ने एलजी से अपील की है कि वो पहले अधिकारियों को लिखित आदेश दे और अगर अधिकारी उनके आदेश की अनदेखी न करें तो उनके खिलाफ कार्रवाई करके एस्मा लागू कर सके। साथ ही उन्होने राशन डिलिवरी के लिए डोर स्टेप डिलिवरी को मंजूरी देने की मांग एलजी के सामने रखी है। इस मामले में भी एलजी की तरफ से सकारात्मक जवाब नही मिल सका। केजरीवाल ने साफ तौर पर कहा कि जब एलजी उनकी इन दोनों मांगों को नही मान लेते, तब वो धरने से नही हटेंगे।

वहीं मुख्यमंत्री के धरने पर बैठने की जानकारी जैसे ही आप विधायकों को हुई तो वो लोग वहां पहुंचने लगे, फिलहाल पुलिस ने उन्हे अंदर नही जाने दिया। इसके अलावा हजारों की संख्या में वहां आप कार्यकर्ता पहुंचने लगे। भीड़ बढ़ती देख वहां भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। वही उपराज्यपाल ने मुख्यमंत्री पर पलटवार करते हुए सोमवार को कहा मुख्यमंत्री बिना किसी कारण के धरना देर है।

नई दिल्ली। हड़ताल जैसी स्थित बनाने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई न किए जाने को लेकर एक बार फिर एलजी और केजरीवाल सरकार में टकराव ​की शुरु हो गया है। इसी सिलसिले में सोमवार को केजरीवाल अपने तीन मंत्रियों के साथ एलजी से मिलने गए थे, लेकिन वहां से संतोषजनक जवाब न मिलने के पर केजरीवाल वही धरने पर बैठ गए। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा कि जब तक एलजी इन आईएएस अधिकारियों पर कार्रवाई का आदेश जारी नहीं करते…