सीएम अशोक गहलोत ने की अपील, राजस्थान में चल रहे तमाशे को बंद करवाएं पीएम नरेन्द्र मोंदी

gahlot and narendar modi

नई दिल्ली। राजस्थान में चल रहें राजनीतिक घमासान के बीच प्रदेश के सीएम अशोक गहलोत ने पीएम नरेन्द्र मोदी से मांगी मदद। गहलोत ने शनिवार को भाजपा पर आरोप लगाया और कहा कि यह पार्टी उनकी सरकार को गिराने के लिए विधायकों को खरीद अपनी ओर करने का बड़ा खेल-खेल रही है। उन्होंने इस मामले में पीएम नरेन्द्र मोंदी से हस्तक्षेप करने को कहा और प्रदेश में चल रहे तमाशे को बंद करवाने की अपील की।

Cm Ashok Gehlot Appealed Pm Narendra Mondi To Stop The Ongoing Spectacle In Rajasthan :

भाजपा का प्रतिनिधियों की खरीद-फरोख्त का खेल बहुत बड़ा

गहलोत ने यहां संवाददाताओं से कहा कि दुर्भाग्य से इस बार भाजपा का प्रतिनिधियों की खरीद-फरोख्त का खेल बहुत बड़ा है। वह कर्नाटक एवं मध्य प्रदेश का प्रयोग यहां कर रही है। पूरा गृह मंत्रालय इस काम में लग चुका है।

हमें लोकतंत्र की परवाह है – अशोक गहलोत

उन्होंने कहा कि हमें किसी की परवाह नहीं। हमें लोकतंत्र की परवाह है। हमारी लड़ाई किसी से नहीं है। हमारी विचारधारा नीतियों एवं कार्यक्रमों की लड़ाई है। लड़ाई यह नहीं होती कि आप चुनी हुई सरकार को गिरा दें। हमारी लड़ाई किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं है। हमारी लड़ाई लोकतंत्र को बचाने की है। गहलोत ने कहा कि मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में दूसरी बार जनता ने मौका दिया जो बड़ी बात है। उन्हें चाहिए कि राजस्थान में जो कुछ तमाशा हो रहा है उसे बंद करवाएं।

गहलोत ने कहा कि सिंह तो मिटा रहे अपनी झेंप

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत द्वारा सरकार के खिलाफ ट्वीट किए जाने के बारे में गहलोत ने कहा कि सिंह तो अपनी झेंप मिटा रहे हैं जबकि आडियो टेप मामले में उन्हें नैतिकता के आधार पर खुद ही इस्तीफा दे देना चाहिए। उनके नेतृत्व से नाराज होकर अलग होने वाले सचिन पायलट एवं 18 अन्य कांग्रेस विधायकों की वापसी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह फैसला पार्टी आलाकमान को करना है और अगर आलाकमान उन्हें माफ करता है तो वे भी बागियों को गले लगा लेंगे। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान में विधायकों को तोड़ने की आशंका के बीच कांग्रेस एवं उसके समर्थक विधायकों को शुक्रवार को राजधानी जयपुर से दूर सीमावर्ती शहर जैसलमेर स्थानांतरित कर दिया गया।

नई दिल्ली। राजस्थान में चल रहें राजनीतिक घमासान के बीच प्रदेश के सीएम अशोक गहलोत ने पीएम नरेन्द्र मोदी से मांगी मदद। गहलोत ने शनिवार को भाजपा पर आरोप लगाया और कहा कि यह पार्टी उनकी सरकार को गिराने के लिए विधायकों को खरीद अपनी ओर करने का बड़ा खेल-खेल रही है। उन्होंने इस मामले में पीएम नरेन्द्र मोंदी से हस्तक्षेप करने को कहा और प्रदेश में चल रहे तमाशे को बंद करवाने की अपील की।

भाजपा का प्रतिनिधियों की खरीद-फरोख्त का खेल बहुत बड़ा

गहलोत ने यहां संवाददाताओं से कहा कि दुर्भाग्य से इस बार भाजपा का प्रतिनिधियों की खरीद-फरोख्त का खेल बहुत बड़ा है। वह कर्नाटक एवं मध्य प्रदेश का प्रयोग यहां कर रही है। पूरा गृह मंत्रालय इस काम में लग चुका है।

हमें लोकतंत्र की परवाह है - अशोक गहलोत

उन्होंने कहा कि हमें किसी की परवाह नहीं। हमें लोकतंत्र की परवाह है। हमारी लड़ाई किसी से नहीं है। हमारी विचारधारा नीतियों एवं कार्यक्रमों की लड़ाई है। लड़ाई यह नहीं होती कि आप चुनी हुई सरकार को गिरा दें। हमारी लड़ाई किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं है। हमारी लड़ाई लोकतंत्र को बचाने की है। गहलोत ने कहा कि मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में दूसरी बार जनता ने मौका दिया जो बड़ी बात है। उन्हें चाहिए कि राजस्थान में जो कुछ तमाशा हो रहा है उसे बंद करवाएं।

गहलोत ने कहा कि सिंह तो मिटा रहे अपनी झेंप

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत द्वारा सरकार के खिलाफ ट्वीट किए जाने के बारे में गहलोत ने कहा कि सिंह तो अपनी झेंप मिटा रहे हैं जबकि आडियो टेप मामले में उन्हें नैतिकता के आधार पर खुद ही इस्तीफा दे देना चाहिए। उनके नेतृत्व से नाराज होकर अलग होने वाले सचिन पायलट एवं 18 अन्य कांग्रेस विधायकों की वापसी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह फैसला पार्टी आलाकमान को करना है और अगर आलाकमान उन्हें माफ करता है तो वे भी बागियों को गले लगा लेंगे। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान में विधायकों को तोड़ने की आशंका के बीच कांग्रेस एवं उसके समर्थक विधायकों को शुक्रवार को राजधानी जयपुर से दूर सीमावर्ती शहर जैसलमेर स्थानांतरित कर दिया गया।