दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त यात्रा की तैयारी में सीएम केजरीवाल, विधानसभा चुनावों को देख कर सकते हैं ऐलान

kejrwali
दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त यात्रा की तैयारी में सीएम केजरीवाल, विधानसभा चुनावों को देख कर सकते है ऐलान

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीट हारने वाली आम आदमी पार्टी अब विधानसभा चुनावों की तैयारी में जु्ट गई है। सीएम अरविंद केजरीवाल इस समय सड़कों पर उतरकर जनता से मुलाकात कर रहे हैं। शनिवार देर शाम वह नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र की लोधी कालोनी में लोगों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने महिलाओं को डीटीसी बसों और मेट्रो में मुफ्त यात्रा कराने का वादा किया। सोमवार इसको लेकर सीएम केजरीवाल ऐलान कर सकते हैं।

Cm Kejriwal Can See Assembly Elections In Preparation For Free Travel For Women In Delhi Metro :

अरविंद केजरीवाल ने लोगों से कहा कि एक सुझाव आया है कि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर अगर महिलाओं को पब्लिक ट्रांसपोर्ट ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करने के लिए जागरूक किया जाए तो महिलाओं के लिए डीटीसी बसों और मेट्रो में सारा किराया महिलाओं का माफ कर दिया जाए।

डीटीसी बसों और मेट्रो में ट्रेवल फ्री कर दिया जाए। केजरीवाल के इस फैसले के बाद सरकार पर 1200 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा। बताया जा रहा है कि बसों व मेट्रो में कुल यात्रियों में 33 फीसद महिलाएं होती हैं। इस हिसाब से जो अनुमान लगाया गया है उसके अनुसार, प्रति वर्ष करीब 200 करोड़ रुपए का खर्च बसों को लेकर सरकार पर आएगा। मेट्रो में महिलाओं की मुफ्त यात्रा पर करीब एक हजार करोड़ का खर्च प्रति वर्ष आएगा।

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने शुक्रवार को मेट्रो के अधिकारियों को बुलाकर इस योजना को लेकर चर्चा की थी। दिल्ली सरकार ने इसके लिए मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) से जल्द प्रस्ताव लाने को कहा है।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीट हारने वाली आम आदमी पार्टी अब विधानसभा चुनावों की तैयारी में जु्ट गई है। सीएम अरविंद केजरीवाल इस समय सड़कों पर उतरकर जनता से मुलाकात कर रहे हैं। शनिवार देर शाम वह नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र की लोधी कालोनी में लोगों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने महिलाओं को डीटीसी बसों और मेट्रो में मुफ्त यात्रा कराने का वादा किया। सोमवार इसको लेकर सीएम केजरीवाल ऐलान कर सकते हैं। अरविंद केजरीवाल ने लोगों से कहा कि एक सुझाव आया है कि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर अगर महिलाओं को पब्लिक ट्रांसपोर्ट ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करने के लिए जागरूक किया जाए तो महिलाओं के लिए डीटीसी बसों और मेट्रो में सारा किराया महिलाओं का माफ कर दिया जाए। डीटीसी बसों और मेट्रो में ट्रेवल फ्री कर दिया जाए। केजरीवाल के इस फैसले के बाद सरकार पर 1200 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा। बताया जा रहा है कि बसों व मेट्रो में कुल यात्रियों में 33 फीसद महिलाएं होती हैं। इस हिसाब से जो अनुमान लगाया गया है उसके अनुसार, प्रति वर्ष करीब 200 करोड़ रुपए का खर्च बसों को लेकर सरकार पर आएगा। मेट्रो में महिलाओं की मुफ्त यात्रा पर करीब एक हजार करोड़ का खर्च प्रति वर्ष आएगा। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने शुक्रवार को मेट्रो के अधिकारियों को बुलाकर इस योजना को लेकर चर्चा की थी। दिल्ली सरकार ने इसके लिए मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) से जल्द प्रस्ताव लाने को कहा है।