1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. सीएम ममता बनर्जी संवैधानिक मानदंडों का करें पालन : राज्यपाल जगदीप धनखड़

सीएम ममता बनर्जी संवैधानिक मानदंडों का करें पालन : राज्यपाल जगदीप धनखड़

पश्चिम बंगाल में नारदा स्टिंग मामले में सीबीआई ने दो मंत्र‍ियों और एक टीएमसी विधायक और एक पूर्व नेता की गिरफ्तारी हुई है। इसके बाद राज्‍य की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी, पुलिस और प्रशासन के रवैये को लेकर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नाराजगी जताई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Cm Mamata Banerjee Should Follow Constitutional Norms Governor Jagdeep Dhankar

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में नारदा स्टिंग मामले में सीबीआई ने दो मंत्र‍ियों और एक टीएमसी विधायक और एक पूर्व नेता की गिरफ्तारी हुई है। इसके बाद राज्‍य की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी, पुलिस और प्रशासन के रवैये को लेकर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नाराजगी जताई है। राज्‍यपाल ने ममता बनर्जी को चेताते हुए संवैधानिक मानदंडों का पालन करने के लिए कहा है। राज्‍यपाल ने कहा पूरी तरह से अराजकता है पुलिस व प्रशासन मौन मोड में है। आशा है कि आप इस तरह की अराजकता और संवैधानिक तंत्र की विफलता के परिणामों को महसूस करेंगे। मिनट दर मिनट स्‍थ‍ित‍ि बिगड़ती जा रही है।

पढ़ें :- शर्मनाक घटना: महिला को पंचायत में नग्न कर पीटा फिर सोशल मीडिया पर वायरल की वीडियो

बता दें कि नारदा मामले में राज्य के दो मंत्रियों तथा तृणमूल के एक विधायक की गिरफ्तारी के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी सीबीआई कार्यालय पहुंचीं। उन्‍होंने सीबीआई की कार्रवाई पर विरोध जताया है, वहीं सीबीआई ऑफिस के बाहर टीएमसी समर्थकों ने हंगामा किया है। पथराव भी किया गया है। इस पर सुरक्षा बलों ने लाठी चार्ज भी किया है।

पश्चिम बंगाल में सोमवार को नारदा स्टिंग मामले में सीबीआई टीएमसी मंत्री फिरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी, विधायक मदन मित्रा और पूर्व मेयर सोवन चटर्जी से सीबीआई कार्यालय में पूछताछ कर रही है। सीबीआई ने तृणमूल कांग्रेस के तीन विधायकों और पार्टी के एक पूर्व नेता को गिरफ्तार किया है। जांच एजेंसी इन नेताओं और एक अन्य आरोपी के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल करेगी।

कानून और व्यवस्था बहाल करने की अपील

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि सीएम ममता बनर्जी का ध्यान आकर्षित किया है, मैंने चैनलों पर और सार्वजनिक डोमेन में सीबीआई कार्यालय में आगजनी और पथराव देखा है। जो​ कि दयनीय है कि कोलकाता पुलिस और पश्चिम बंगाल पुलिस तो सिर्फ मूकदर्शक बनी है। आपसे कार्रवाई करने और कानून और व्यवस्था बहाल करने की अपील है।

पढ़ें :- प्रतापगढ़ : पत्रकार की पत्नी का आरोप उनके पति की हुई है हत्या, सीबीआई करे जांच

पढ़ें :- राम मंदिर चंदे का दुरुपयोग अधर्म और यह है आस्था का अपमान : प्रियंका गांधी

स्थिति को बिगड़ने दिया जा रहा है

राज्‍यपाल ने ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल पुलिस, बंगाल के गृह मंत्री और कोलकाता पुलिस को ट्वीट करते हुए संवैधानिक मानदंडों और कानून के शासन का पालन करने के लिए आह्वान करने के लिए कहा है। राज्‍यपाल ने कहा कि कानून और व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सभी कदम उठाने चाहिए। पुल‍िस प्रशासन अधिकारियों द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं होने के कारण स्थिति को बिगड़ने दिया जा रहा है।

राज्‍यपाल ने कहा कि आप संवैधानिक तंत्र की विफलता के परिणामों को महसूस करेंगी

पढ़ें :- मुकुल रॉय ने गृह मंत्रालय से केंद्रीय सुरक्षा वापस लेने को कहा, BJP छोड़ टीएमसी में हुए शामिल

राज्‍यपाल ने ममता बनर्जी को ट्वीट किया है, पूरी तरह गैरकानूनी और अराजतकता है। पुलिस और प्रशासन साइलेंस मोड पर है। उम्‍मीद है कि आशा है कि आप इस तरह की अराजकता और संवैधानिक तंत्र की विफलता के परिणामों को महसूस करेंगी। मिनट दर मिनट बिगड़ती जा रही है। मिनट दर मिनट बिगड़ती जा रही इस विस्फोटक स्थिति को प्रतिबिंबित करने और नियंत्रित करने का समय आ गया है।

राज्यपाल ने मुकदमा चलाने की दी थी मंजूरी

सीबीआई ने हकीम, मुखर्जी, मित्रा और चटर्जी के अभियोजन की मंजूरी के लिए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से संपर्क किया था। उन्होंने बताया कि धनखड़ ने सात मई को सभी चारों नेताओं के खिलाफ मुकदमा चलाने की मंजूरी दी थी, जिसके बाद सीबीआई ने अपने आरोप पत्र को अंतिम रूप दिया और उन्हें गिरफ्तार किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X