सीएम योगी का लखनऊ पुलिस लाइन में औचक निरीक्षण, मचा हड़कंप

सीएम योगी का लखनऊ पुलिस लाइन में औचक निरीक्षण, मचा हड़कंप
सीएम योगी का लखनऊ पुलिस लाइन में औचक निरीक्षण, मचा हड़कंप

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार सुबह अचानक पुलिस लाइन पहुंच गए। सीएम के औचक निरीक्षण पर पहुंचने की जानकारी होते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया। उन्होंने यहां पुलिसकर्मियों को मिलने वाले आवास पर अन्य सुविधाओं की जानकारी ली। सीएम के वहां पहुंचने की सूचना के बाद सबसे पहले एसएसपी कलानिधि नैथानी पहुंचे, फिर डीजीपी, इसके बाद एडीजी जोन और सबसे बाद में डीआईजी रेंज पहुंचे। सीएम ने घुड़साल, शास्त्रागार आदेश कक्ष, आरीटीसी बैरक, आवासीय परिसर, काॅफ्रेंस हॉल, पीएसी कैंप एरिया, निर्माणाधीन बैरक आदि का निरीक्षण किया।

Cm Yogi Adityanath On Surprise Visit Of Lucknow Police Line :

बताया जा रहा है कि निरीक्षण के दौरान सीएम योगी लाइन में फैली गंदनी देख नाराज हो गए। उन्होने तुरन्त एएसपी लाइंस को तलब कर फटकार लगाई और जल्द ही वहां फैली गंदगी को साफ करने के आदेश दिए। नाराज सीएम ने कहा कि गाड़ी मंगवाकर सफाई करवाओ, कुर्सी पर बैठकर औपचारिकता न पूरी करो। उन्‍होंने फौरन व्‍यवस्‍था को दुरुस्‍त करने के निर्देश दिए।

डीजीपी ओ पी सिंह ने मुख्यमंत्री के निरीक्षण पर कहा कि योगी जी ने पुलिसकर्मियों को मिलने वाली सुविधाओं सहित निर्माणाधीन बैरक का निरीक्षण किया। डीजीपी के मुताबिक ये उनकी पूरी सर्विस का पहला मौका था, जब​ कोई सीएम पुलिस लाइन के औचक निरीक्षण के लिए पहुंचा हो। हालाकि उन्होने कहा कि इस दौरान सीएम ने वहां रहने वाले पुलिसकर्मियों की दिक्कतों को समझा और जल्द ही उन्हे दूर करवाने का आश्वासन भी दिया।

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर सीएम योगी ने प्रदेश के पुलिसकर्मियों को अच्छी सुविधाएं देने का भरोसा दिलाया था। उनके इस निरीक्षण को इसी कड़ी से जोड़कर देखा जा रहा है।

फंड की वजह से रूका था बैरक निर्माण का काम

निर्माणाधीन बैरक के बारे में डीजीपी बोले कि इसका निर्माण फंड की कमी से कुछ दिनों के लिए रुक गया था। जब ये बन जाएगा तो यहां चार कंपनी पीएसी के जवानों को रुकने की सुविधा मिल सकेगी। डीजीपी ने कहा कि योगी ने निरीक्षण में कई जगह साफ-सफाई न मिलने पर नाखुशी भी जाहिर की और पुलिसकर्मियों को बेहतर सुविधाएं देने का भरोसा दिलाया।

किया जाएगा मल्टीस्टोरी आवासों का निर्माण

पुलिस लाइन के निरीक्षण के दौरान सीएम ने सालों से बन रही बैरकों को देख नाराजगी जताई। उन्होंने ठेकेदार और अन्य कार्यदायी संस्थाओं से भवन के निर्माण में लगने वाले समय के बारे में पूछा और इसे जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। सीएम ने पुलिसकर्मियों को आश्वासन दिया कि आने वाले समय में पुलिस आवासों को मल्टीस्टोरी कर दिया जाएगा, जिससे की आवासों की दिक्कत से सभी को निजात मिल सकेगी।

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार सुबह अचानक पुलिस लाइन पहुंच गए। सीएम के औचक निरीक्षण पर पहुंचने की जानकारी होते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया। उन्होंने यहां पुलिसकर्मियों को मिलने वाले आवास पर अन्य सुविधाओं की जानकारी ली। सीएम के वहां पहुंचने की सूचना के बाद सबसे पहले एसएसपी कलानिधि नैथानी पहुंचे, फिर डीजीपी, इसके बाद एडीजी जोन और सबसे बाद में डीआईजी रेंज पहुंचे। सीएम ने घुड़साल, शास्त्रागार आदेश कक्ष, आरीटीसी बैरक, आवासीय परिसर, काॅफ्रेंस हॉल, पीएसी कैंप एरिया, निर्माणाधीन बैरक आदि का निरीक्षण किया। बताया जा रहा है कि निरीक्षण के दौरान सीएम योगी लाइन में फैली गंदनी देख नाराज हो गए। उन्होने तुरन्त एएसपी लाइंस को तलब कर फटकार लगाई और जल्द ही वहां फैली गंदगी को साफ करने के आदेश दिए। नाराज सीएम ने कहा कि गाड़ी मंगवाकर सफाई करवाओ, कुर्सी पर बैठकर औपचारिकता न पूरी करो। उन्‍होंने फौरन व्‍यवस्‍था को दुरुस्‍त करने के निर्देश दिए। डीजीपी ओ पी सिंह ने मुख्यमंत्री के निरीक्षण पर कहा कि योगी जी ने पुलिसकर्मियों को मिलने वाली सुविधाओं सहित निर्माणाधीन बैरक का निरीक्षण किया। डीजीपी के मुताबिक ये उनकी पूरी सर्विस का पहला मौका था, जब​ कोई सीएम पुलिस लाइन के औचक निरीक्षण के लिए पहुंचा हो। हालाकि उन्होने कहा कि इस दौरान सीएम ने वहां रहने वाले पुलिसकर्मियों की दिक्कतों को समझा और जल्द ही उन्हे दूर करवाने का आश्वासन भी दिया। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस स्मृति दिवस के मौके पर सीएम योगी ने प्रदेश के पुलिसकर्मियों को अच्छी सुविधाएं देने का भरोसा दिलाया था। उनके इस निरीक्षण को इसी कड़ी से जोड़कर देखा जा रहा है।

फंड की वजह से रूका था बैरक निर्माण का काम

निर्माणाधीन बैरक के बारे में डीजीपी बोले कि इसका निर्माण फंड की कमी से कुछ दिनों के लिए रुक गया था। जब ये बन जाएगा तो यहां चार कंपनी पीएसी के जवानों को रुकने की सुविधा मिल सकेगी। डीजीपी ने कहा कि योगी ने निरीक्षण में कई जगह साफ-सफाई न मिलने पर नाखुशी भी जाहिर की और पुलिसकर्मियों को बेहतर सुविधाएं देने का भरोसा दिलाया।

किया जाएगा मल्टीस्टोरी आवासों का निर्माण

पुलिस लाइन के निरीक्षण के दौरान सीएम ने सालों से बन रही बैरकों को देख नाराजगी जताई। उन्होंने ठेकेदार और अन्य कार्यदायी संस्थाओं से भवन के निर्माण में लगने वाले समय के बारे में पूछा और इसे जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। सीएम ने पुलिसकर्मियों को आश्वासन दिया कि आने वाले समय में पुलिस आवासों को मल्टीस्टोरी कर दिया जाएगा, जिससे की आवासों की दिक्कत से सभी को निजात मिल सकेगी।