बुंदेलखंड के ‘हर घर में नल से जल’, सीएम योगी आदित्यनाथ करेंगे योजना की शुरूआत

yogi cabinet
बुंदेलखंड के 'हर घर में नल से जल', सीएम योगी आदित्यनाथ करेंगे योजना की शुरूआत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मंगलवार को बुंदेलखंड से ‘हर घर, नल से जल योजना’ की शुरूआत करेंगे। प्रधाानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में योगी सरकार बुंदेलखंड, विंध्याचल और इंसेफ्लाइटिस प्रभावित क्षेत्रों तथा आर्सेनिक व फ्लोराइड प्रभावित इलाकों में हर घर तक नल से जल पहुंचाने की योजना शुरू करेंगे।

Cm Yogi Adityanath To Launch Scheme Water From Tap In Every House Of Bundelkhand :

बता दें कि, पीएम मोदी की पहल पर देशभर में हर गांव तक पीने का पानी उपलब्ध कराने की महत्वाकांक्षी योजना के तहत उत्तर प्रदेश में चार चरणों में इस अभियान को चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत पहले उन क्षेत्रों को चुना गया है, जहां पर पीने के पानी का सबसे ज्यादा संकट है।

योजना के तहत सर्फेस वाटर और भूजल से पेयजल पहुंचाया जाएगा। जलशक्ति विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इस अभियान के चलते 15,000 करोड़ रुपए की लागत से पहले चरण में बुंदेलखंड और विंध्याचल में अगले दो साल के भीतर हर घर पीने का पानी पहुंचेगा। अभियान की शुरुआत से पहले मुख्यमंत्री योगी ने जल शक्ति मंत्रालय की महत्वपूर्ण बैठक कर योजना की रणनीति पर चर्चा की और निर्देश जारी किए। इस दौरान जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे।

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मंगलवार को बुंदेलखंड से 'हर घर, नल से जल योजना' की शुरूआत करेंगे। प्रधाानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में योगी सरकार बुंदेलखंड, विंध्याचल और इंसेफ्लाइटिस प्रभावित क्षेत्रों तथा आर्सेनिक व फ्लोराइड प्रभावित इलाकों में हर घर तक नल से जल पहुंचाने की योजना शुरू करेंगे। बता दें कि, पीएम मोदी की पहल पर देशभर में हर गांव तक पीने का पानी उपलब्ध कराने की महत्वाकांक्षी योजना के तहत उत्तर प्रदेश में चार चरणों में इस अभियान को चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत पहले उन क्षेत्रों को चुना गया है, जहां पर पीने के पानी का सबसे ज्यादा संकट है। योजना के तहत सर्फेस वाटर और भूजल से पेयजल पहुंचाया जाएगा। जलशक्ति विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इस अभियान के चलते 15,000 करोड़ रुपए की लागत से पहले चरण में बुंदेलखंड और विंध्याचल में अगले दो साल के भीतर हर घर पीने का पानी पहुंचेगा। अभियान की शुरुआत से पहले मुख्यमंत्री योगी ने जल शक्ति मंत्रालय की महत्वपूर्ण बैठक कर योजना की रणनीति पर चर्चा की और निर्देश जारी किए। इस दौरान जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे।