CM योगी आदित्यनाथ ने प्रवासी मजदूरों को बताया प्रदेश की संपदा हैं

cm yogi
योगी सरकार का सराहनीय फैसला: अब मृतक आश्रित कोटे से विवाहित बेटी को भी मिल सकेगी नौकरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब तक हजारों प्रवासी मजदूर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से अपने घर पहुंच चुके हैं. इस बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बीते 1 मार्च से अबतक करीब 20 लाख प्रवासी श्रमिक प्रदेश में वापस आए हैं. ये लोग उत्तर प्रदेश की संपदा हैं. इनके बल पर अब प्रदेश का विकास और तेज होगा. जब ये लोग आर्थिक रूप से मजबूत होंगे तब प्रदेश अपने आप विकसित होने लगा. इसके लिए यूपी सरकार हर संभव प्रयास कर रही है.

Cm Yogi Adityanath Told Migrant Laborers Are The Property Of The State :

गुरूवार को प्रेस वार्ता के दौरान अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों से आने वाले सभी लोगों और इन लोगों के परिजनों से अपील की है कि ये लोग खुद आगे आकर अपने स्वास्थ्य के विषय में जानकारी दें. जिससे उनका इलाज सही समय पर शुरू किया जा सके. सीएम योगी ने इसके लिए ग्राम प्रधानों को भी विशेष रूप से जागरूक रहने का आह्वाहन किया है. उन्होंने बताया कि भारी संख्या में प्रवासियों के आने के कारण ही सीएम योगी ने स्वास्थ्य विभाग की टेस्टिंग क्षमता को और बढ़ाने का निर्देश देते हुए इसे प्रतिदिन 10 हजार सैंपल टेस्ट करने को कहा है. हालांकि विभाग द्वारा लगभग 7 हजार टेस्ट प्रतिदिन किया जा रहा है.

अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि अबतक गुजरात से 355, महाराष्ट्र से 181, पंजाब से 144, राजस्थान से 28, दिल्ली से 36, कर्नाटक से 33 ट्रेन सहित कुल 1154 ट्रेनों की व्यवस्था की गई. इनमें से 841 ट्रेन आ गई हैं जबकि 313 आ रही हैं या फिर एक दो दिनों में पहुंचेंगी. उन्होंने बताया कि इन ट्रेनों के माध्यम से अबतक उत्तर प्रदेश में 15 लाख 27 हजार लोगों ने वापसी की है. अब दूसरे चरण में हरियाणा से 3982 बसों से 1 लाख 35 हजार, राजस्थान से 355 बसों से 13224 और मध्यप्रदेश से 1350 बसों से 49 हजार लोगों को लाया गया है. अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि 1 मार्च से अबतक 20 लाख लोग यूपी में आये हैं.

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब तक हजारों प्रवासी मजदूर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से अपने घर पहुंच चुके हैं. इस बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बीते 1 मार्च से अबतक करीब 20 लाख प्रवासी श्रमिक प्रदेश में वापस आए हैं. ये लोग उत्तर प्रदेश की संपदा हैं. इनके बल पर अब प्रदेश का विकास और तेज होगा. जब ये लोग आर्थिक रूप से मजबूत होंगे तब प्रदेश अपने आप विकसित होने लगा. इसके लिए यूपी सरकार हर संभव प्रयास कर रही है. गुरूवार को प्रेस वार्ता के दौरान अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दूसरे राज्यों से आने वाले सभी लोगों और इन लोगों के परिजनों से अपील की है कि ये लोग खुद आगे आकर अपने स्वास्थ्य के विषय में जानकारी दें. जिससे उनका इलाज सही समय पर शुरू किया जा सके. सीएम योगी ने इसके लिए ग्राम प्रधानों को भी विशेष रूप से जागरूक रहने का आह्वाहन किया है. उन्होंने बताया कि भारी संख्या में प्रवासियों के आने के कारण ही सीएम योगी ने स्वास्थ्य विभाग की टेस्टिंग क्षमता को और बढ़ाने का निर्देश देते हुए इसे प्रतिदिन 10 हजार सैंपल टेस्ट करने को कहा है. हालांकि विभाग द्वारा लगभग 7 हजार टेस्ट प्रतिदिन किया जा रहा है. अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि अबतक गुजरात से 355, महाराष्ट्र से 181, पंजाब से 144, राजस्थान से 28, दिल्ली से 36, कर्नाटक से 33 ट्रेन सहित कुल 1154 ट्रेनों की व्यवस्था की गई. इनमें से 841 ट्रेन आ गई हैं जबकि 313 आ रही हैं या फिर एक दो दिनों में पहुंचेंगी. उन्होंने बताया कि इन ट्रेनों के माध्यम से अबतक उत्तर प्रदेश में 15 लाख 27 हजार लोगों ने वापसी की है. अब दूसरे चरण में हरियाणा से 3982 बसों से 1 लाख 35 हजार, राजस्थान से 355 बसों से 13224 और मध्यप्रदेश से 1350 बसों से 49 हजार लोगों को लाया गया है. अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि 1 मार्च से अबतक 20 लाख लोग यूपी में आये हैं.