गैंगरेप व आत्महत्या की घटना के बाद सीएम ने संभल व प्रतापगढ़ एसपी को ​किया निलंबित

लखनऊ। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे महिला संबंधी अपराधों को सीएम योगी आदित्यनाथ एक्शन मोड में आ गए है। इसी के चलते गैंगरेप और आत्महत्या की घटना का खुलासा न कर पाने पर सीएम ने एसपी संभल राधे मोहन भारद्वाज व प्रतापगढ़ एसपी संतोष कुमार सिंह- प्रथम सोमवार शाम निलंबित कर दिया।

Cm Yogi Aditynath Suspended Sp Sambhal And Pratapgarh After Gangrape And Suicide :

बता दें कि संभल में एक युवती को उसके ससुराल में गैंगरेप के बाद जलाकर मार डाला गया था। इस घटना ने जिले की पुलिस के साथ ही सरकार की जमकर फजीहत कराई थी। इसी तरह, प्रतापगढ़ में एक लड़की की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इस घटना के बाद प्रतापगढ़ में कानून-व्यवस्था बिगड़ने की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। बावजूद इसके पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कदम नही उठाया गया। इन दोनों मामलों की जानकारी सीएम तक पहुंची तो उन्होने तुरन्त दोनों जिलों के पुलिस कप्तानों को निलंबित करते हुए वहां नए कप्तानों की तैनाती करा दी।

बताया जा रहा है कि दोनों घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार व डीजीपी ओम प्रकाश सिंह से पूरी रिपोर्ट तलब की थी। प्रमुख सचिव गृह ने बताया कि 2012 बैच के आईपीएस अफसर यमुना प्रसाद को संभल और 2011 बैच के देव रंजन वर्मा को प्रतापगढ़ का नया एसपी बनाया गया है। संभल जिले की जिम्मेदारी पाने वाले यमुना प्रसाद डीजीपी मुख्यालय में तैनात थे जबकि देव रंजन वर्मा को पिछले महीने की 24 तारीख को शामली से हटाकर 37वीं वाहिनी पीएसी का कमांडेंट बनाया गया था।

लखनऊ। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे महिला संबंधी अपराधों को सीएम योगी आदित्यनाथ एक्शन मोड में आ गए है। इसी के चलते गैंगरेप और आत्महत्या की घटना का खुलासा न कर पाने पर सीएम ने एसपी संभल राधे मोहन भारद्वाज व प्रतापगढ़ एसपी संतोष कुमार सिंह- प्रथम सोमवार शाम निलंबित कर दिया। बता दें कि संभल में एक युवती को उसके ससुराल में गैंगरेप के बाद जलाकर मार डाला गया था। इस घटना ने जिले की पुलिस के साथ ही सरकार की जमकर फजीहत कराई थी। इसी तरह, प्रतापगढ़ में एक लड़की की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इस घटना के बाद प्रतापगढ़ में कानून-व्यवस्था बिगड़ने की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। बावजूद इसके पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कदम नही उठाया गया। इन दोनों मामलों की जानकारी सीएम तक पहुंची तो उन्होने तुरन्त दोनों जिलों के पुलिस कप्तानों को निलंबित करते हुए वहां नए कप्तानों की तैनाती करा दी। बताया जा रहा है कि दोनों घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार व डीजीपी ओम प्रकाश सिंह से पूरी रिपोर्ट तलब की थी। प्रमुख सचिव गृह ने बताया कि 2012 बैच के आईपीएस अफसर यमुना प्रसाद को संभल और 2011 बैच के देव रंजन वर्मा को प्रतापगढ़ का नया एसपी बनाया गया है। संभल जिले की जिम्मेदारी पाने वाले यमुना प्रसाद डीजीपी मुख्यालय में तैनात थे जबकि देव रंजन वर्मा को पिछले महीने की 24 तारीख को शामली से हटाकर 37वीं वाहिनी पीएसी का कमांडेंट बनाया गया था।