सीएम योगी और स्वतंत्र देव सिंह ने अमित शाह से की मुलाकात, मंत्रिमंडल​ विस्तार की चर्चा तेज

cm yogi
सीएम योगी और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अमित शाह से की मुलाकात, मंत्रिमंडल​ विस्तार की चर्चा

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा जोरों पर हैं। बीजेपी अध्यक्ष व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से शुक्रवार सीएम योगी और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने मुलाकात की, जिसके बाद से यह अटकलें तेज हो गयीं हैं। हालांकि योगी के दिल्ली जाने के पीछे की वजह यह बताई जा रही है कि वह एम्स में भर्ती अरुण जेटली से मुलाकात करने पहुंचे थे।

Cm Yogi And State President Swatantra Dev Singh Meet Amit Shah :

अरुण जेटली से मुलाकात करने के बाद सीएम योगी अमित शाह के घर पर उनसे मुलाकात की। बताया जा रहा है कि इस दौरान यूपी में​त्रीमंडल विस्तार पर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक योगी आदित्यनाथ और स्वतंत्र देव सिंह ने इस बारे में केंद्रीय मंत्री अमित शाह से चर्चा की। दरअसल, मौजूदा सीटों की स्थिति के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 60 सदस्यों का मंत्रिपरिषद हो सकता है।

जब मुख्यमंत्री के रूप में योगी ने शपथ ली थी तब 47 सदस्यों को मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया था। इसमें से तीन मंत्री सांसद बनने की वजह से इस्तीफा दे चुके हैं। सांसद बनने वाले मंत्रियों में रीता बहुगुणा जोशी, सत्यदेव पचौरी और डॉक्टर एसपी बघेल शामिल हैं।

सूत्रों की माने तो मंत्रिमंडल विस्तार मेें जातीय समीकरण को साधने की कोशिश की जायेगी। संघ और पार्टी के सूत्रों के मुताबिक योगी आदित्यनाथ मौजूदा हालात में मंत्रिमंडल में कुछ नए चेहरों को शामिल करना चाहते हैं और कुछ लोगों को तरक्की देना चाहते हैं साथ ही कुछ का कद भी घटाना चाहते हैं।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चा जोरों पर हैं। बीजेपी अध्यक्ष व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से शुक्रवार सीएम योगी और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने मुलाकात की, जिसके बाद से यह अटकलें तेज हो गयीं हैं। हालांकि योगी के दिल्ली जाने के पीछे की वजह यह बताई जा रही है कि वह एम्स में भर्ती अरुण जेटली से मुलाकात करने पहुंचे थे। अरुण जेटली से मुलाकात करने के बाद सीएम योगी अमित शाह के घर पर उनसे मुलाकात की। बताया जा रहा है कि इस दौरान यूपी में​त्रीमंडल विस्तार पर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक योगी आदित्यनाथ और स्वतंत्र देव सिंह ने इस बारे में केंद्रीय मंत्री अमित शाह से चर्चा की। दरअसल, मौजूदा सीटों की स्थिति के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 60 सदस्यों का मंत्रिपरिषद हो सकता है। जब मुख्यमंत्री के रूप में योगी ने शपथ ली थी तब 47 सदस्यों को मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया था। इसमें से तीन मंत्री सांसद बनने की वजह से इस्तीफा दे चुके हैं। सांसद बनने वाले मंत्रियों में रीता बहुगुणा जोशी, सत्यदेव पचौरी और डॉक्टर एसपी बघेल शामिल हैं। सूत्रों की माने तो मंत्रिमंडल विस्तार मेें जातीय समीकरण को साधने की कोशिश की जायेगी। संघ और पार्टी के सूत्रों के मुताबिक योगी आदित्यनाथ मौजूदा हालात में मंत्रिमंडल में कुछ नए चेहरों को शामिल करना चाहते हैं और कुछ लोगों को तरक्की देना चाहते हैं साथ ही कुछ का कद भी घटाना चाहते हैं।