सीएम योगी ने 300 बेड वाले कोरोना अस्पताल का किया लोकार्पण, जानें मरीजों को क्या मिलेंगी सुविधाएं

yogi baba

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोरखपुर को एक बड़ी सौगात देने जा रहे हैं। बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज के 500 बेड वाले सेवा संस्थान में 300 बेड का कोविड लेवल टू व थ्री अस्पताल तैयार हो चुका है। जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने बताया कि सीएम योगी आदित्य नाथ सुबह 10 बजे इसका लोकार्पण करेंगे। देर रात तक इसकी तैयारियां पूरी कर ली गईं। मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह, डीपीआरओ हिमांशु शेखर ठाकुर ने पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। इस अस्पताल में 100 बेड का आइसीयू व 200 बेड ऑक्सीजनयुक्त बनाए गए हैं। इसके साथ ही माइक्रोबायोलॉजी विभाग में तैयार बॉयोसेफ्टी लैब (बीएसएल) लेवल थ्री व प्लामा थेरेपी का भी शुभारंभ हो सकता है।

Cm Yogi Inaugurated 300 Bed Corona Hospital Know What Facilities Will Be Available To Patients :

बीएसएल-लेवल थ्री व फिजियोथेरपी का भी हो सकता है शुभारंभ

बीएसएल लेवल थ्री संक्रमण रोकने के लिहाज से बेहद सुरक्षित मानी जाती है। लैब में बाहर से हवा भी अंदर नहीं आ सकती और अंदर मौजूद संक्रमित हवा को फिल्टर करके बाहर निकाला जाता है। अंदर प्रयोग होने वाला पानी भी पूरी तरह से विसंक्रमित किया जाता है। लैब में अक्टूबर में कोबॉस मशीन भी आने की संभावना है। माइक्रोबायोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. अमरेश सिंह ने बताया कि इस लैब में येलो फीवर वायरस, वेस्ट नाइल वायरस, कोरोना वायरस, स्वाइन फ्लू व मर्स वायरस पर शोध होंगे। उनकी जांच व पहचान भी यहां होगी। इसके अलावा ड्रग रेजिस्टेंस टीबी बैक्टीरिया सहित लगभग दो दर्जन वायरस पर शोध किए जा सकेंगे।

मुख्यमंत्री को मैरिज हाउस की परेशानियों से कराया अवगत

उधर, गोरखपुर मैरिज हाउस एसोसिएशन का एक प्रतिनिधमंडल रविवार को गोरखनाथ मंदिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ से मिला। एसोसिएशन के मंत्री संजय श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री को बताया कि लॉकडाउन के बाद से मैरिज हाउस का कारोबार एक तरह से ठप हो गया है। टेंट हाउस, वेटर, कुक, बैंडवाले सभी भुखमरी के कगार पहुंच गए हैं। ऐसे में अगर शादी समारोह में 100 के बजाए 300 मेहमानों को बुलाने की अनुमति मिल जाए तो हमलोगों का कारोबार कुछ हद तक चल निकलेगा। इस दौरान सैनिटाइजेशन और सफाई का पूरा ध्यान रखा जाएगा। प्रतिनिधमंडल में अध्यक्ष एसए रहमान और संरक्षक कैफुल वरा शामिल थे।

भाजपा पार्षदाें ने की मुख्यमंत्री से की मुलाकात

वहीं, नाला निर्माण के चलते हो रहे जलभराव की समस्या को लेकर भाजपा पार्षदों ने रविवार को गोरखनाथ मंदिर में सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर समस्या से अवगत कराया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अधिकारियों को जलभराव की समस्या से निजात को लकार निर्देश दिये गए हैं। भाजपा पार्षद दल के उप नेता ऋषि मोहन वर्मा के साथ मनोनीत पार्षद धर्म देव चौहान व वीर सिंह सोनकर ने हुमायूंपुर उत्तरी, अंसारी रोड, जागेश्वर पासी चौक, गोरखनाथ राजेंद्र नगर पूर्वी, राजेंद्र नगर पश्चिमी, रामनगर, बरगदवा, बनकटवा आदि क्षेत्रों के सड़क निर्माण व जल निकासी की समस्या को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा। पार्षदों ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि फोरलेन एवं नाला निर्माण के दौरान इस बात का अधिकारीगण ध्यान दें कि उससे जुड़े हुए घनी आबादी के मोहल्ले में जलभराव की स्थिति ना हो पाए और नागरिकों को बेहतर सुविधा मिले। पार्षद ऋषि मोहन वर्मा ने दिग्विजय नगर, जनप्रिय बिहार व हड़हवा फाटक के क्षतिग्रस्त सड़कों के निर्माण एवं पार्कों के सुंदरीकरण की मांग मुख्यमंत्री से की।

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोरखपुर को एक बड़ी सौगात देने जा रहे हैं। बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज के 500 बेड वाले सेवा संस्थान में 300 बेड का कोविड लेवल टू व थ्री अस्पताल तैयार हो चुका है। जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पांडियन ने बताया कि सीएम योगी आदित्य नाथ सुबह 10 बजे इसका लोकार्पण करेंगे। देर रात तक इसकी तैयारियां पूरी कर ली गईं। मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह, डीपीआरओ हिमांशु शेखर ठाकुर ने पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। इस अस्पताल में 100 बेड का आइसीयू व 200 बेड ऑक्सीजनयुक्त बनाए गए हैं। इसके साथ ही माइक्रोबायोलॉजी विभाग में तैयार बॉयोसेफ्टी लैब (बीएसएल) लेवल थ्री व प्लामा थेरेपी का भी शुभारंभ हो सकता है। https://twitter.com/myogiadityanath/status/1302831198259929088?s=20

बीएसएल-लेवल थ्री व फिजियोथेरपी का भी हो सकता है शुभारंभ

बीएसएल लेवल थ्री संक्रमण रोकने के लिहाज से बेहद सुरक्षित मानी जाती है। लैब में बाहर से हवा भी अंदर नहीं आ सकती और अंदर मौजूद संक्रमित हवा को फिल्टर करके बाहर निकाला जाता है। अंदर प्रयोग होने वाला पानी भी पूरी तरह से विसंक्रमित किया जाता है। लैब में अक्टूबर में कोबॉस मशीन भी आने की संभावना है। माइक्रोबायोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ. अमरेश सिंह ने बताया कि इस लैब में येलो फीवर वायरस, वेस्ट नाइल वायरस, कोरोना वायरस, स्वाइन फ्लू व मर्स वायरस पर शोध होंगे। उनकी जांच व पहचान भी यहां होगी। इसके अलावा ड्रग रेजिस्टेंस टीबी बैक्टीरिया सहित लगभग दो दर्जन वायरस पर शोध किए जा सकेंगे।

मुख्यमंत्री को मैरिज हाउस की परेशानियों से कराया अवगत

उधर, गोरखपुर मैरिज हाउस एसोसिएशन का एक प्रतिनिधमंडल रविवार को गोरखनाथ मंदिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ से मिला। एसोसिएशन के मंत्री संजय श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री को बताया कि लॉकडाउन के बाद से मैरिज हाउस का कारोबार एक तरह से ठप हो गया है। टेंट हाउस, वेटर, कुक, बैंडवाले सभी भुखमरी के कगार पहुंच गए हैं। ऐसे में अगर शादी समारोह में 100 के बजाए 300 मेहमानों को बुलाने की अनुमति मिल जाए तो हमलोगों का कारोबार कुछ हद तक चल निकलेगा। इस दौरान सैनिटाइजेशन और सफाई का पूरा ध्यान रखा जाएगा। प्रतिनिधमंडल में अध्यक्ष एसए रहमान और संरक्षक कैफुल वरा शामिल थे।

भाजपा पार्षदाें ने की मुख्यमंत्री से की मुलाकात

वहीं, नाला निर्माण के चलते हो रहे जलभराव की समस्या को लेकर भाजपा पार्षदों ने रविवार को गोरखनाथ मंदिर में सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर समस्या से अवगत कराया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अधिकारियों को जलभराव की समस्या से निजात को लकार निर्देश दिये गए हैं। भाजपा पार्षद दल के उप नेता ऋषि मोहन वर्मा के साथ मनोनीत पार्षद धर्म देव चौहान व वीर सिंह सोनकर ने हुमायूंपुर उत्तरी, अंसारी रोड, जागेश्वर पासी चौक, गोरखनाथ राजेंद्र नगर पूर्वी, राजेंद्र नगर पश्चिमी, रामनगर, बरगदवा, बनकटवा आदि क्षेत्रों के सड़क निर्माण व जल निकासी की समस्या को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा। पार्षदों ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि फोरलेन एवं नाला निर्माण के दौरान इस बात का अधिकारीगण ध्यान दें कि उससे जुड़े हुए घनी आबादी के मोहल्ले में जलभराव की स्थिति ना हो पाए और नागरिकों को बेहतर सुविधा मिले। पार्षद ऋषि मोहन वर्मा ने दिग्विजय नगर, जनप्रिय बिहार व हड़हवा फाटक के क्षतिग्रस्त सड़कों के निर्माण एवं पार्कों के सुंदरीकरण की मांग मुख्यमंत्री से की।