सीएम योगी ने अलीगढ़ में पढ़ाई कर रहे 70 कश्मीरी छात्रों से किया संवाद

yogi
सीएम योगी ने अलीगढ़ में पढ़ाई कर रहे 70 कश्मीरी छात्रों से किया संवाद

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अलीगढ़ में पढ़ रहे करीब 70 कश्मीरी छात्रों से लखनऊ में अपने आवास 5 कालीदास मार्ग पर संवाद किया। मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ से आए छात्रों की मांगें सुनी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि आज हो रहे संवाद में जो बात निकलेगी, उसको हम जम्मू कश्मीर के शासन से बात कर समस्याओं का समाधान निकाल सकते हैं। सीएम ने कश्मीरी छात्रों को उन्हें पूरी सुरक्षा और सुविधा देने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि छात्र यहां जिस मकसद से आये हैं, उसे पूरा करें। राज्य सरकार उनकी सुविधा और सुरक्षा का पूरा ख्याल रखेगी।

Cm Yogi Interacts With 70 Kashmiri Students Studying In Aligarh :

सीएम योगी ने कश्मीरी छात्रों को आश्वासन दिया कि आप की बातचीत गोपनीय रहेगी। संवाद के जरिये हम अच्छा माहौल बना सकते है। आज आप पढ़ाई कर रहे हैं, कल आप प्रशासनिक नौकरी में भी आ सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि आप उत्तर प्रदेश को समझें। लोकतांत्रिक माहौल में संवाद सबसे अधिक जरूरी है। लोकतंत्र का मतलब सबका विकास है।

सीएम योगी ने छात्रों से उनकी समस्याएं पूछी और कहा कि सरकार इसके समाधान का पूरा प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविधालय (एएमयू) में राजनीति चरम पर है। उन्होंने एएमयू के 40 छात्रों को भी संवाद में आने का न्योता दिया था लेकिन उनमें से कोई नहीं आया। एएमयू के छात्रों का कहना था कि यदि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी या भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह उन्हें बुलायेंगे तो वो जाने को तैयार है ।योगी आदित्यनाथ से उनकी समस्याओं का समाधान नहीं होगा ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बेहतर पहल के लिए आज यह प्रयास किया जा रहा है। राज्य स्तर की जो समस्या होगी उसे हम सुलझाने का प्रयास करेंगे। साथ ही अन्य स्तर पर भी प्रयास किए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने को लेकर लंबी ऊहापोह के बाद आखिरकार दो कॉलेजों के अलीगढ़ के एसीएन कॉलेज आफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट स्टडीज एवं इगलास के शिवदान सिंह कॉलेज के छात्र सीएम योगी से मिलने के लिए सहमत हुए।

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से एएमयू में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों के तेवर तल्ख हैं। राज्यपाल की बकरीद की दावत ठुकराकर एवं केंद्र सरकार के प्रतिनिधि से मिलने से इंकार कर वे अपने तेवर दिखा चुके हैं। तीन बार आंदोलन भी कर चुके हैं।

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अलीगढ़ में पढ़ रहे करीब 70 कश्मीरी छात्रों से लखनऊ में अपने आवास 5 कालीदास मार्ग पर संवाद किया। मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ से आए छात्रों की मांगें सुनी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि आज हो रहे संवाद में जो बात निकलेगी, उसको हम जम्मू कश्मीर के शासन से बात कर समस्याओं का समाधान निकाल सकते हैं। सीएम ने कश्मीरी छात्रों को उन्हें पूरी सुरक्षा और सुविधा देने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि छात्र यहां जिस मकसद से आये हैं, उसे पूरा करें। राज्य सरकार उनकी सुविधा और सुरक्षा का पूरा ख्याल रखेगी। सीएम योगी ने कश्मीरी छात्रों को आश्वासन दिया कि आप की बातचीत गोपनीय रहेगी। संवाद के जरिये हम अच्छा माहौल बना सकते है। आज आप पढ़ाई कर रहे हैं, कल आप प्रशासनिक नौकरी में भी आ सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि आप उत्तर प्रदेश को समझें। लोकतांत्रिक माहौल में संवाद सबसे अधिक जरूरी है। लोकतंत्र का मतलब सबका विकास है। सीएम योगी ने छात्रों से उनकी समस्याएं पूछी और कहा कि सरकार इसके समाधान का पूरा प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविधालय (एएमयू) में राजनीति चरम पर है। उन्होंने एएमयू के 40 छात्रों को भी संवाद में आने का न्योता दिया था लेकिन उनमें से कोई नहीं आया। एएमयू के छात्रों का कहना था कि यदि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी या भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह उन्हें बुलायेंगे तो वो जाने को तैयार है ।योगी आदित्यनाथ से उनकी समस्याओं का समाधान नहीं होगा । मुख्यमंत्री ने कहा कि बेहतर पहल के लिए आज यह प्रयास किया जा रहा है। राज्य स्तर की जो समस्या होगी उसे हम सुलझाने का प्रयास करेंगे। साथ ही अन्य स्तर पर भी प्रयास किए जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने को लेकर लंबी ऊहापोह के बाद आखिरकार दो कॉलेजों के अलीगढ़ के एसीएन कॉलेज आफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट स्टडीज एवं इगलास के शिवदान सिंह कॉलेज के छात्र सीएम योगी से मिलने के लिए सहमत हुए। जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से एएमयू में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों के तेवर तल्ख हैं। राज्यपाल की बकरीद की दावत ठुकराकर एवं केंद्र सरकार के प्रतिनिधि से मिलने से इंकार कर वे अपने तेवर दिखा चुके हैं। तीन बार आंदोलन भी कर चुके हैं।