कानपुर एनकाउंटर पर बोले सीएम योगी-व्यर्थ नहीं जाएगा पुलिसकर्मियों का बलिदान

cm yogi
कानपुर एनकाउंटर मामले में योगी सरकार ने गठित की SIT, इन बिंदुओं पर जांच के निर्देश

लखनऊ। कानपुर में पुलिस टीम पर हमले में जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों के परिजनों के प्रति सीएम योगी आदित्यनाथ ने शोक और अपनी संवेदना व्यक्त की है। सीएम योगी ने डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी से तत्काल मौके से रिपोर्ट तलब की है। सीएम के निर्देश पर हरकत में आ चुकीं पुलिस की एक दर्जन टीमें विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए ताबड़तोड़ दबिश दे रही हैं।

Cm Yogi Said At Kanpur Encounter Policemens Sacrifice Will Not Go In Vain :

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कर्तव्य पथ पर अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले आठ पुलिसकर्मियों को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। शहीद पुलिसर्मियों ने जिस अपरिमित साहस व अद्भुत कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन किया, उत्तर प्रदेश कभी भूलेगा नहीं। उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। आपको बता दें कि, कानपुर में देर रात कुख्यात बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर फायरिंग में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हे गए थे।

एडीजी जय नारायण सिंह ने इसकी पुष्टि की है। कई सिपाहियों को बेहद गंभीर हालत में रीजेंसी भर्ती कराया गया है और कई पुलिसकर्मी लापता हैं। पुलिस के आलाधिकारी और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है। घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है।

आपको बता दें कि गुरुवार रात करीब साढ़े 12 बजे बिठूर और चौबेपुर पुलिस ने मिलकर विकास दुबे के गांव बिकरू में उसके घर पर दबिश दी। बिठूर एसओ कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि विकास और उसके 8-10 साथियों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। घर के अंदर और छतों से गोलियां चलाई गईं। गोलीबारी में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा और एसओ शिवराजपुर महेश यादव शहीद हो गए। उनके साथ करीब आठ पुलिसकर्मी भी शहीद हुए हैं।

लखनऊ। कानपुर में पुलिस टीम पर हमले में जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों के परिजनों के प्रति सीएम योगी आदित्यनाथ ने शोक और अपनी संवेदना व्यक्त की है। सीएम योगी ने डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी से तत्काल मौके से रिपोर्ट तलब की है। सीएम के निर्देश पर हरकत में आ चुकीं पुलिस की एक दर्जन टीमें विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए ताबड़तोड़ दबिश दे रही हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कर्तव्य पथ पर अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले आठ पुलिसकर्मियों को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। शहीद पुलिसर्मियों ने जिस अपरिमित साहस व अद्भुत कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन किया, उत्तर प्रदेश कभी भूलेगा नहीं। उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। आपको बता दें कि, कानपुर में देर रात कुख्यात बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर फायरिंग में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हे गए थे। एडीजी जय नारायण सिंह ने इसकी पुष्टि की है। कई सिपाहियों को बेहद गंभीर हालत में रीजेंसी भर्ती कराया गया है और कई पुलिसकर्मी लापता हैं। पुलिस के आलाधिकारी और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है। घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। आपको बता दें कि गुरुवार रात करीब साढ़े 12 बजे बिठूर और चौबेपुर पुलिस ने मिलकर विकास दुबे के गांव बिकरू में उसके घर पर दबिश दी। बिठूर एसओ कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि विकास और उसके 8-10 साथियों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। घर के अंदर और छतों से गोलियां चलाई गईं। गोलीबारी में सीओ बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा और एसओ शिवराजपुर महेश यादव शहीद हो गए। उनके साथ करीब आठ पुलिसकर्मी भी शहीद हुए हैं।