1. हिन्दी समाचार
  2. CM योगी बोले- हिंसा करने वालों से होने लगी रिकवरी तो महिलाओं को आगे कर प्रदर्शन करने लगे

CM योगी बोले- हिंसा करने वालों से होने लगी रिकवरी तो महिलाओं को आगे कर प्रदर्शन करने लगे

Cm Yogi Said Recovery Started From Those Who Committed Violence Then Women Started Demonstrating Further

कानपुर। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लखनऊ के घंटाघर पर लगातार कई दिनो से महिलाओं द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है। पुलिस के लाख समझाने के बावजूद महिलाएं प्रदर्शन समाप्त नही कर रही है। इसी को लेकर बुधवार को कानपुर में नागरिकता कानून के समर्थन में आयोजित बीजेपी की रैली में यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान जिन लोगों ने तोड़फोड़ की थी, उनसे रिकवरी की जा रही है, इसीलिए अब रिकवरी के डर से महिलाओं को आगे कर प्रदर्शन किया जा रहा है।

पढ़ें :- किसान आंदोलनः आज की बैठक भी बेनतीजा, अब 9 दिसंबर को सरकार और किसानों के बीच होगी वार्ता

कानपुर के किदवई नगर में आयोजित की गयी रैली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सीएए के नाम पर कांग्रेस, सपा, वामपंथी दल और कई संगठन दुष्प्रचार में लगे हैं। उन्होने चेतावनी दी कि भारत में रहकर भारत के खिलाफ साजिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि विपक्ष के इस रवैये से दुश्मनों के हौसले बुलंद हैं, लेकिन हम ये साजिश सफल नहीं होने देंगे। सीएए नागरिकता लेने का नहीं देने का कानून है। उन्होने कहा कि विपक्ष ही अब महिलाओं को आगे कर प्रदर्शन करवा रहा है।

योगी ने कहा कि विपक्ष लगातार वोटबैंक के लिए लोगों को गुमराह कर रहा है। कांग्रेस, सपा और बसपा के पाप को घर-घर जाकर बेनकाब किया जाएगा। ‘मोदी है तो मुमकिन है’ का नारा सच हुआ है। पिछले छह महीनों में जिस तरह से केंद्र की मोदी सरकार ने राष्ट्रहित में कदम उठाए हैं, वे आजादी के वक्त ही उठा लेने चाहिए थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और अन्य दलों ने इन मुद्दों को सुलझाने की जगह वोटबैंक की राजनीति की। बीजेपी देशहित के मामलों में सियासत नहीं करती है।

सीएम योगी ने मेादी सरकार के दूसरे कार्यकाल की उपलब्धियां बताते हुए कहा कि मोदी सरकार ने इस दौरान जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने, तीन तलाक की कुप्रथा खत्म करने, 500 साल से चले आ रहे राम मंदिर विवाद का हल और पड़ोसी देशों में प्रताड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का काम किया है। उन्होने कहा कि विपक्ष लगातार दुष्प्रचार कर रहा है लेकिन दुष्प्रचार ठीक वैसा ही है जैसे भरी सभा में द्रौपदी का चीरहरण हुआ और वहां मौजूद सभी ज्ञानी और बड़े लोग चुप रहे। हम कांग्रेस, सपा व बसपा के दुष्प्रचार में सहभागी नहीं होंगे। हम घर-घर जाकर इस कानून के बारे में लोगों को बताएंगे।

पढ़ें :- यूपी में हुए दो करोड़ कोरोना टेस्ट, सीएम योगी ने लांच किया मेरा कोविड केंद्र एप

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...