1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. भ्रष्टाचार पर सीएम योगी का बड़ा एक्शन, गाजियाबाद की पूर्व जिलाधिकारी को किया सस्पेंड

भ्रष्टाचार पर सीएम योगी का बड़ा एक्शन, गाजियाबाद की पूर्व जिलाधिकारी को किया सस्पेंड

यूपी की योगी सरकार ने बुधवार को भूमि अधिग्रहण में अनियमितता मामले में बड़ा एक्शन लिया है। गाजियाबाद की तत्कालीन जिलाधिकारी आईएएस निधि केसरवानी को सस्पेंड कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार तत्कालीन जिलाधिकारी गाजियाबाद को निलंबित करते हुए विभागीय कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ । यूपी की योगी सरकार ने बुधवार को भूमि अधिग्रहण में अनियमितता मामले में बड़ा एक्शन लिया है। गाजियाबाद की तत्कालीन जिलाधिकारी आईएएस निधि केसरवानी को सस्पेंड कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार तत्कालीन जिलाधिकारी गाजियाबाद को निलंबित करते हुए विभागीय कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं।

पढ़ें :- UP News: रात में निर्वस्त्र घूमती महिला घरों के बजा रही बेल, खुले बाल में घरों के बाहर दे रही दस्तक, पुलिस ने की ये अपील

मिली जानकारी के अनुसार तत्कालीन जिलाधिकारी गाजियाबाद वर्तमान में केंद्र सरकार में तैनात हैं। आईएएस निधि केसरवानी केंद्र में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर में उप सचिव हैं। 2004 बैच की आईएएस निधि केसरवानी 21 जुलाई 2016 को गाजियाबाद की डीएम बनी थी।

सेवानिवृत्त डीएम विमल दुबे के ख़िलाफ़ एफ़आइआर दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करने के आदेश

इसके साथ ही वहां तैनात रहे सेवानिवृत्त डीएम विमल दुबे के ख़िलाफ़ एफ़आइआर दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। निधि केसरवानी चूंकि केंद्र सरकार में तैनात हैं। इसलिए निलंबित करते हुए विभागीय कार्रवाई शुरू करने के लिए प्रकरण भारत सरकार को संदर्भित करने के आदेश दिए हैं। दोनों अधिकारियों पर आरोप है कि उन्होंने ग़ाज़ियाबाद में तैनात रहते हुए भूमि अधिग्रहण के मामले में ज़्यादा भुगतान नियम विरूद्ध करके चहेते लोगों को लाभ पहुंचाया है।

दोषियों पर FIR कराने के निर्देश भी जारी

पढ़ें :- Maharashtra News : संजय राउत ने केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को भेजा मानहानि का नोटिस, बढ़ीं मुश्किलें

अनुभाग अधिकारी नियुक्ति और समीक्षा अधिकारी नियुक्ति को भी सस्पेंड करने के निर्देश दिए गए हैं। जांच रिपोर्ट उपलब्ध होने के बावजूद क्रियान्वित न करने वाले नियुक्त विभाग के अफसरों पर भी कार्रवाई होगी। अनुसचिव नियुक्ति विभाग के खिलाफ विभागीय कार्रवाई और जांच के निर्देश दिए गए हैं।

इन अधिकारियों पर भी गिर चुकी है गाज

हाल ही में सीएम योगी के निर्देश पर जौनपुर जिला अस्पताल के दो डॉक्टरों को ड्यूटी में घोर लापरवाही करने पर निलंबित कर दिया गया है। इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी में अनुशासनहीनता के मामले में 2008 बैच की आईपीएस अलंकृता सिंह को निलंबित किया था।

बता दें कि महिला और बाल सुरक्षा, एसपी के रूप में सेवारत अलंकृता सिंह को 20 अक्टूबर 2021 से काम से अनुपस्थित पायी गईं। 19 अक्टूबर 2021 को एक व्हाट्सएप कॉल के माध्यम से उन्होंने एडीजी को सूचित किया था कि वे लंदन में हैं। बता दें कि उन्होंने यात्रा के पूर्व अनुमति नहीं ली थी। जिसके चलते उनके खिलाफ कार्रवाई की गई। बीते महीने औरैया के जिलाधिकारी (DM) सुनील वर्मा को लापरवाही और भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर और गाजियाबाद के एसएसपी पवन कुमार को कर्तव्यों का पालन ना करने के आरोप में निलंबित किया गया।

पढ़ें :- पीएम मोदी फिर बने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, बाइडन और सुनक टॉप 5 से आउट
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...