सीएम का था दौरा तो गायों की खुली किस्मत, साबुन से नहलाने के बाद दिया गया अच्छा चारा

cm yogi
सीएम का था दौरा तो गायों की खुली किस्मत, साबुन से नहलाने के बाद दिया गया अच्छा चारा

लखनऊ। बांदा के तिंदवारा में बने पशु आश्रय केन्द्र की सैकड़ों गायों के लिए शनिवार का दिन काफी खास रहा है। जिन गांयों को कभी चारा तक नसीब नहीं होता था, उन्हे शनिवार को अधिकारियों ने साबून से नहलाया और आसपास के गांवों से ट्रालियों में भरकर अच्छा भूसा लाया गया। यहीं नहीं करीब 17 बोरी पशु आहार लाकर गायों के लिए अच्छे चारे की व्यवस्था की गई। यहीं नहीं वहां साफ—सफाई से लेकर रंगरोगन का काम भी रातोंरात पूरा हो गया। पूरा पशु आश्रय केन्द्र सीएफएल लाईटों से जगमगा गया।

Cms Visit Was The Open Luck Of Cows Good Bait Given After Bathing With Soap :

दरअसलस रविवार को वहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दौरा है। जिसके लिए अधिकारियों के हाथ—पांव फूले हैं। जिसके चलते शुक्रवार रात और शनिवार पूरी रात वहां मजदूर लगे रहे। ये पूरा काम एसडीएम सुरजीत सिंह की देखरेख में चल रहा था। शनिवार दोपहर कमिश्नर शरद कुमार सिंह और डीआईजी दीपक कुमार कान्हा पशु आश्रय केन्द्र पहुंचे और वहां का जायजा लिया।

इसके अलावा मुख्यमंत्री का थाने और पीएचसी में भी कार्यक्रम प्रस्तावित हैं। वहां भी साफ—सफाई से लेकर रंगाई—पुताई का पूरा काम चल रहा है। शाम को डीएम हीरालाल और एसपी गणेश प्रसाद साहा ने वहां भी व्यव्स्थाओं का परखा।

बता दें कि बांदा में सभी सड़के कागजों में सौ प्रतिशत गडडामुक्त हो चुकी हैं, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। वर्ष 2017 में कलेक्ट्रेट सभागार में हुई समीक्षा बैठक में पीडब्लूडी ने चारों जिलों में 822 किलोमीटर सड़कों को गडडामुक्त होने का दावा किया था, लेकिन अभी तक कोई भी काम नहीं हुआ था, इसकों लेकर भी अधिकारियों में काफी बेचैनी हैं।

लखनऊ। बांदा के तिंदवारा में बने पशु आश्रय केन्द्र की सैकड़ों गायों के लिए शनिवार का दिन काफी खास रहा है। जिन गांयों को कभी चारा तक नसीब नहीं होता था, उन्हे शनिवार को अधिकारियों ने साबून से नहलाया और आसपास के गांवों से ट्रालियों में भरकर अच्छा भूसा लाया गया। यहीं नहीं करीब 17 बोरी पशु आहार लाकर गायों के लिए अच्छे चारे की व्यवस्था की गई। यहीं नहीं वहां साफ—सफाई से लेकर रंगरोगन का काम भी रातोंरात पूरा हो गया। पूरा पशु आश्रय केन्द्र सीएफएल लाईटों से जगमगा गया। दरअसलस रविवार को वहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दौरा है। जिसके लिए अधिकारियों के हाथ—पांव फूले हैं। जिसके चलते शुक्रवार रात और शनिवार पूरी रात वहां मजदूर लगे रहे। ये पूरा काम एसडीएम सुरजीत सिंह की देखरेख में चल रहा था। शनिवार दोपहर कमिश्नर शरद कुमार सिंह और डीआईजी दीपक कुमार कान्हा पशु आश्रय केन्द्र पहुंचे और वहां का जायजा लिया। इसके अलावा मुख्यमंत्री का थाने और पीएचसी में भी कार्यक्रम प्रस्तावित हैं। वहां भी साफ—सफाई से लेकर रंगाई—पुताई का पूरा काम चल रहा है। शाम को डीएम हीरालाल और एसपी गणेश प्रसाद साहा ने वहां भी व्यव्स्थाओं का परखा। बता दें कि बांदा में सभी सड़के कागजों में सौ प्रतिशत गडडामुक्त हो चुकी हैं, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। वर्ष 2017 में कलेक्ट्रेट सभागार में हुई समीक्षा बैठक में पीडब्लूडी ने चारों जिलों में 822 किलोमीटर सड़कों को गडडामुक्त होने का दावा किया था, लेकिन अभी तक कोई भी काम नहीं हुआ था, इसकों लेकर भी अधिकारियों में काफी बेचैनी हैं।